इफ्तार पार्टी और टोपी नहीं पहनने वाले विश्वास जीतने की बात कर रहे: दिग्विजय सिंह

 
इफ्तार पार्टी और टोपी नहीं पहनने वाले विश्वास जीतने की बात कर रहे: दिग्विजय सिंह
नई दिल्ली। राज्यसभा में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि 2014 में मोदी सरकार सबका साथ-सबका विकास के साथ सत्ता में आई। लेकिन 2019 में सरकार ने सबका विश्वास को भी जोड़ दिया।

लेकिन यह समझ से परे है कि जो व्यक्ति राष्ट्रपति की इफ्तार पार्टी में जाने को तैयार नहीं था, जिन्होंने दंगों में मारे गए हजारों लोगों के परिवारवालों से माफी नहीं मांगी, सार्वजनिक तौर पर मुस्लिम टोपी पहनने से इनकार कर दिया। वह आज वह अल्पसंख्यकों का विश्वास जीतने की बात कर रहे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर बीते दो दिनों से संसद में बहस जारी है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति दंगों में मरे 2500 लोगों से माफी मांगने को तैयार नहीं हुआ, वो आज सबके विश्वास की बात कर रहा है। क्या वाकई प्रधानमंत्री ये बदलाव है या फिर ये एक जुमला है।

दिग्विजय सिंह ने मॉब लिंचिंग मामलों का जिक्र करते हुए कहा कि देश में आज सांप्रदायिकता का विष कूट-कूटकर भरा जा रहा है। इसे वापस निकालना मुमकिन नहीं दिख रहा है। भीड़ झारखंड में एक व्यक्ति को पीट पीटकर मार रही है और आरोपी खुलेआम घूम रहा है। यह कौन सा सबका साथ और सबका विकास है।

From around the web