प्रेरणा ऐप का कल विरोध करेंगे अध्यापक

 
प्रेरणा ऐप का कल विरोध करेंगे अध्यापक
मुरादाबाद। प्राइमरी एवं जूनियर स्तर के सरकारी स्कूलों में अध्यापकों की हाजिरी सुनिश्चित करने के लिए लागू प्रेरणा ऐप का अध्यापकों ने विरोध प्रारंभ कर दिया है। इसको लागू करने की निर्धारित तिथि पर अध्यापक जिला मुख्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन करेंगे।
दरअसल सरकार ने परिषदीय स्कूलों में अध्यापकों की हाजिरी सुनिश्चित करने के लिए प्रेरणा ऐप को लॉन्च किया है। इसका शुभारंभ 5 सितंबर को किया जाएगा। प्रेरणा ऐप में अध्यापक को स्कूल की प्रार्थना सभा, मिड डे मील एवं छुट्टी के समय बच्चों के बीच में खड़े होकर बच्चों के साथ स्मार्टफोन से सेल्फी लेनी होगी और इसके बाद एप पर डाउनलोड करना होगा। जो भी शिक्षा का बच्चों के साथ सेल्फी प्रेरणा ऐप डाउनलोड नहीं करेगा उसको गैरहाजिर मान लिया जाएगा। अध्यापकों की ओर से प्रेरणा ऐप का विरोध प्रारंभ हो गया है। उनका तर्क है कि ड्यूटी वक्त में अध्यापक स्कूल में पढ़ाई के बजाय सेल्फी की उधेड़बुन में लगा रहेगा। सभी अध्यापकों के पास स्मार्टफोन नहीं है। दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्र के दूरदराज स्थिति स्कूलों में नेटवर्क की सुविधा भी नहीं है ऐसे में अध्यापकों का सेल्फी लेकर प्रेरणा एप पर डाउनलोड करना बहुत ही मुश्किल होगा। इसके साथ ही उन्होंने सिर्फ अध्यापकों पर प्रेरणा ऐप लागू करने की मंशा पर भी सवाल उठाया है कहां की प्रेरणा ऐप इतना अच्छा है तो सभी सरकारी विभागों में क्यों नहीं लागू कर दिया जाता। इन समस्याओं और सवालों को लेकर अध्यापकों ने कल 5 सितंबर को जिला मुख्यालय मुरादाबाद पहुंचकर जिला अध्यक्ष सर्वेश शर्मा के नेतृत्व में बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन का निर्णय लिया है। जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन का यह निर्णय शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश चंद्र शर्मा के आह्वान पर लिया गया है। ठाकुरद्वारा के संजय कुमार (अध्यक्ष ),दिनेश कुमार वत्सल (वरिष्ठ उपाध्यक्ष ), प्रदीप कुमार (मंत्री), सरफराज हुसैन (जिला संगठन मंत्री) ने अध्यापकों से बृहस्पतिवार को मुरादाबाद पहुंच कर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है।

From around the web