नया प्रधानमंत्री कांग्रेस या भाजपा का नहीं होगा: अखिलेश

 
नया प्रधानमंत्री कांग्रेस या भाजपा का नहीं होगा: अखिलेश
लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि गठबंधन को जनता का साथ मिलता देख भाजपा बौखला गई है। भाजपा इसे तोड़ने की साजिशें करने में लगी है, भ्रामक बातें फैलाई जा रही हैं।

गठबंधन न केवल भाजपा बल्कि कांग्रेस के लिए भी बड़ी चुनौती है। भाजपा का सूपड़ा साफ हो रहा है और कांग्रेस को दो के अलावा तीसरी सीट मिलने वाली नहीं है। देश का नया प्रधानमंत्री कांग्रेस या भाजपा का नहीं होगा।

एक बयान में अखिलेश ने कहा कि छह मई, 12 मई व 19 मई की तारीखें इतिहास में दर्ज होने जा रही हैं, क्योंकि इन्हीं तारीखों में देश की नई सरकार, नया प्रधानमंत्री और नए भारत का चुनाव होगा। अब दिल्ली की गद्दी पर नया चेहरा बैठा दिखाई देगा। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा अब तक मतदान के हर चरण में पीछे रही है।

प्रधानमंत्री अपनी बातों व वादों पर खुद नहीं टिक रहे हैं। उन्होंने नौजवानों की नौकरियां छीन ली हैं। किसानों की आय दोगुनी होने तो दूर, उन्हें फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। गरीब महंगाई से त्रस्त हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा को पता है, अब तक चार चरणों के चुनावों में बड़ी पराजय होने वाली है। इसीलिए नेतृत्व बेसिर पैर की बातें करने लगा है। खुद प्रधानमंत्री जब अपने पद की मर्यादा का ध्यान नहीं रख रहे तो उनके दल के दूसरे बयानबाजों को क्या कहा जाए?

अखिलेश ने आरोप लगाया कि चुनाव में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग हो रहा है। खेद है कि चुनाव आयोग इन दिनों अपने मानकों पर खरा नहीं उतर रहा है। ऐसा लगता है कि आयोग सत्ता के दबाव में है।

From around the web