अमीरों को शक की नजर से नहीं देखना चाहिए: मोदी

 
अमीरों को शक की नजर से नहीं देखना चाहिए: मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में कहा कि अमीरों को शक की नजर से नहीं देखना चाहिए। वे देश की संपत्ति हैं उन्हें सम्मान देना चाहिए। संपत्ति बढ़ाना एक महान राष्ट्रीय सेवा है क्योंकि जब संपत्ति बढ़ेगी तभी उसका वितरण होगा।

मोदी ने बीते एक साल में तीसरी बार कॉरपोरेट का समर्थन किया है। पिछले साल जुलाई में कहा था कि उन्हें उद्योगपतियों के साथ नजर आने में किसी बात का डर नहीं था क्योंकि, उनकी अंतरात्मा साफ थी। मोदी का कहना था कि उद्योगपति भी देश के विकास में योगदान देते हैं। पिछले साल अक्टूबर में मोदी ने कहा कि वे इंडस्ट्री और कॉरपोरेट्स की निंदा करने की संस्कृति में भरोसा नहीं करते। उद्योगपति कारोबार के साथ सामाजिक कार्य भी करते हैं।

From around the web