बेदर्द बाप के हाथों जख्मी दूसरे बेटे ने भी दम तोड़ा

 
बेदर्द बाप के हाथों जख्मी दूसरे बेटे ने भी दम तोड़ा
ठाकुरद्वारा (इफ्तखार)। निर्मलपुर में क्रूर पिता के हाथों जख्मी दूसरे बेटा भी जिंदगी की जंग हार गया। उसने काशीपुर के अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। इस सनसनीखेज वारदात से क्षेत्र ममें हर कोई गमजदा है।

ग्राम निर्मलपुर में रविवार की रात करीब दस बजे घरेलू कलह में दर्जी रोहताश ने क्रूरता की सारी हदे पार कर अपने चार बच्चों को कैंची सेे गोद डाला था। बेदर्दी से पेट पर कैंची के प्रहार से बारह वर्षीय बड़े बेटे रवि ने मौके पर दम तोड़ दिया था। दस वर्षीय छोटे बेटे आकाश, अट्ठारह वर्षीय बेटी सलोनी और सोलह वर्षीय बेटी शिवानी गंभीर घायल हो गईं थी। उनको काशीपुर कृष्णा हास्पीटल में भर्ती कराया गया था। जहां उपचार के दौरान मंगलवार की दोपहर आकाश भी जिंदगी जंग हार गया।

डाक्टरों के मृत घोषित करने पर उत्तराखंड पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर काशीपुर के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। आकाश का शव निर्मलपुर पहंुचा तो गांव के साथ ही गोपीवाला, कालावाला, माधोवाला आदि में कोहराम मच गया। मृतक की मां कलावती बेसुध हो गई। मृतक ताई-ताउ समेत ग्रामीणों की आंखें छलक आईं। देर शाम गांव के श्मशानघाट पर आकाश का भी अंतिम संस्कार कर दिया है। दोनों बहन सलोनी और शिवानी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही हैं। कोतवाल मनोज कुमार के अनुसार हत्यारोपी रोहताश की तलाश की जा रही है। सार्वजनिक स्थलों पर जहां पोस्टर लगाए गए हैं। जंगलों में भी उसकी तलाश की जा रही है। 

From around the web