महिला कलेक्टर ने अपना खून देकर बचाई युवती की जान!

 
महिला कलेक्टर ने अपना खून देकर बचाई युवती की जान!
मध्यप्रदेश के राजगढ़ के जिला अस्पताल में पिछले एक महीने से खून की कमी चल रही है। इसी दौरान सोमवार को खजुरिया गांव की एक युवती कविता दांगी को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया, जहां उनकी जांच की गई।

जांच के दौरान पता चला कि युवती मरीज का हीमोग्लोबिन काफी कम था और उसे B पॉजिटिव खून की सख्त जरूरत थी, लेकिन अस्पताल की बल्ड बैंक में खून की कमी के चलते वहां सिर्फ एक यूनिट खून बचा था, जिससे डॉक्टर्स और मरीज के परिजन दोनों परेशान हो गए।

मरीज को खून नहीं मिलने के चलते पीड़ित के पिता रायसिंह दांगी ने लोगों से सोशल मीडिया पर रक्तदान की अपील की, लेकिन अपील के तीन घंटे तक वहां कोई नहीं पहुंचा।

इसी बीच युवती की हालत-लगातार बिगड़ने लगी, तभी इस बात की सूचना कलेक्टर निधि निवेदिता को पता चली तो वह खुद मरीज को रक्तदान के लिए अस्पताल पहुंच गईं। डाक्टर्स के मुताबिक फिलहाल कविता की हालत अब ठीक है।

ब्लड बैंक प्रभारी डॉ पीके जैन ने बताया कि अस्पताल में प्रसूता वार्ड में आने वाली महिलाएं और थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों को बल्ड की कमी के चलते काफी काफी परेशानी हो रही है। वहीं मरीज के लिए रक्तदान करने आयीकलेक्टर निधि निवेदिता ने कहा कि जल्द ही प्रशासनिक स्तर पर शहर में रक्तदान शिविर लगाए जाएंगे, जिससे शहर के अस्पताल में हो रही कमी को दूर किया जा सकेगा।

From around the web