आप-कांग्रेस के गठबंधन पर नहीं बनी बात

 
आप-कांग्रेस के गठबंधन पर नहीं बनी बातनई दिल्ली। दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर पिछले कई दिनों से जारी खींचतान सोमवार को पूरी तरह से समाप्त हो गई हैं।

आप के संस्थापक सदस्य और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के साथ नई दिल्ली में गठबंधन से इनकार कर दिया है। इससे पहले दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने शनिवार को कहा था कि राजधानी की सात लोकसभा सीटों के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन पर जो भी फैसला होगा उसकी औपचारिक घोषणा जल्दी कर दी जाएगी।

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने हाल ही में राहुल गांधी से मुलाकात की थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने आप के साथ चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया। दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित के उनसे संपर्क ना करने के बयान पर केजरीवाल ने कहा, श्श्हमने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। दीक्षित इतनी महत्वपूर्ण नेता नहीं हैं।

केजरीवाल लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए लगातार कांग्रेस से गठबंधन करने की अपील कर रहे हैं। पार्टी सूत्रों ने कहा था कि गठबंधन के मुद्दे पर दिल्ली कांग्रेस बंटी हुई है। दीक्षित और उनके तीन कार्यकारी अध्यक्ष गठबंधन का विरोध कर रहे हैं। पार्टी के एक उच्च पदस्थ सूत्र ने हाल ही में कहा था कि दिल्ली के दीर्घकालिक परिणामों पर ध्यान देते हुए गठबंधन की संभावना कम है।

कांग्रेस के प्रत्याशियों की संभावित सूची तैयार
प्रदेश कांग्रेस की ओर से सातों लोकसभा सीटों के लिए संभावित प्रत्याशियों के नाम तय कर लिए गए हैं। हर लोकसभा सीट से 2-3 प्रत्याशियों का पैनल बनाकर कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति को भेज दिए गए हैं। दिलचस्प बात यह है कि भाजपा की तर्ज पर कांग्रेस ने भी पिछला चुनाव हार चुके सभी प्रत्याशियों के नाम इस बार फिर से संभावित प्रत्याशियों की सूची में जोड़ दिए हैं। बहरहाल, अब माना जा रहा है कि दिल्ली में कांग्रेस और 'आपश् के गठबंधन को लेकर अब सभी अटकलें खत्म हो गई हैं। 

From around the web