मासूम बेटी के आधी रात को रोने पर दे दिए तीन तलाक

 
मासूम बेटी के आधी रात को रोने पर दे दिए तीन तलाक
इंदौर स्थित ससुराल में चार अगस्त को बेटी रोई तो शौहर ने उसे पलंग से फेंक कर सेंधवा निवासी बीवी से मारपीट कर रात दो बजे तीन तलाक दे दिया।

पीड़िता ने मामला दर्ज कराने के लिए सेंधवा पुलिस को 12 दिन पूर्व लिखित आवेदन दिया था, लेकिन पुलिस ने जीरो पर मामला दर्ज न करते हुए इंदौर के रावजी बाजार पुलिस थाने जाने की सलाह दे दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पीड़िता उज्मा ने शिकायत में बताया कि शादी के बाद शौहर अकबर सहित ससुर अकरम पिता हमीद, सास सुफिया बी व जेठ आदिल दहेज के लिए और बेटी पैदा होने पर मारपीट व प्रताड़ित करते रहे।

उज्मा ने शिकायती आवेदन में बताया कि रीति-रिवाज के अनुसार 29 अप्रैल 2017 को अकबर से निकाह हुआ था। जब वह गर्भवती हुई तो ससुराल वाले बोलते थे कि लड़का ही चाहिए, लेकिन 22 अप्रैल 2018 को लड़की पैदा हुई। उसके बाद से आरोपित मुझे व बच्ची को मार डालने के लिए कहने लगे। ताना मारते कि शादी में कुछ खास नहीं मिला है, तेरे घरवालों से एक मोटरसाइकिल और एक लाख रुपए नकद लेकर आ।

यह बात मैंने मेरे बड़े पिताजी को बताई तो वे मुझे लेकर सेंधवा आ गए। मैं यहां दो माह रही, लेकिन पति व ससुराल पक्ष ने मेरी व बेटी की कोई सुध नहीं ली। इस बीच रिश्तेदारों द्वारा समझौता कराने पर मैं फिर ससुराल चली गई।
-सांकेतिक तस्वीर 

From around the web