कई जगह आंधी-तूफ़ान से पेड़ गिरे, फसल को हुआ नुकसान

 
कई जगह आंधी-तूफ़ान से पेड़ गिरे, फसल को हुआ नुकसान
मुजफ्फरनगर। उमस से बिलबिलाएं लोगों को बीती रात्रि उस समय राहत मिलनी शुरू हो गयी जब आंधी तूफान के साथ गरज की आवाजों के बीच बारिश की बोछारे पडनी शुरू हो गयी लेकिन बारिश तो अधिक नहीं पड पायी आंधी तूफान से कई जगह जनपद में पेड गिर गये जिससे फसलों को भी भारी नुकसान हुआ।
जानकारी के अनुसार बीती रात्रि जनपद में आंधी तूफान के साथ बारिश की बोछारे पडी लेकिन इस सबके बावजूद भी गर्मी से कोई राहत नहीं मिल पायी और मौसम में बुधवार को दोपहर होते होते फिर उमस होनी शुरू हो गयी। बीती रात्रि आये आंधी तूफान से कई जगह पेड गिरने के समाचार है जिससे विद्युत व्यवस्था रात्रि से ही बाधित हो गयी थी और कई इलाकों में विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने सुबह तक लगकर विद्युत सप्लाई को जारी किया।
विकास भवन के पास पंडाल के बाहर एक यूके लिप्टिस का पेड टूटकर डिवाईडर की ओर जा गिरा। जिससे डिवाइडर के बीच के खम्भों पर केबिल लाइन के तारों को नुकसान हुआ है और इस क्षेत्र में बिजली भी गायब रही एक दूसरा पेड कम्पनी बाग के तहसील के पास कम्पनी बाग के अंदर गेट के पास यूके लिप्टिस का पेड आंधी तूफान में गिर गया। इन पेड गिरने की घटनाओं में कोई हताहत नहीं हुआ है जिससे विद्युत व्यवस्था बाधित हो गयी। जिले में कई अन्य जगह खतौली, बुढाना, चरथावल, मोरना, भोपा, जानसठ, पुरकाजी क्षेत्र में भी आंधी तूफान के चलते इस समय की मौसमी फसले और आम के बागों में तूफान से भारी नुकसान हुआ।
किसान रमेश, सुनील, जयप्रकाश ने बताया कि आम के बागों में तूफान के कारण आम की फसल को नुकसान पहुंचा है और बड़ी संख्या में अधपके आम पेडों से नीचे गिर गये। वहीं लीची व अन्य फसलों को भी नुकसान पहुंचाया तूफान ने पोली हाउसों को भी नुकसान पहुंचाया है। किसान का कहना है कि बारिश केवल सांकेतिक हो पायी पर्याप्त बारिश होती तो उमस से राहत मिलती।

From around the web