शोषण से निजात पाने के लिए बहुजन समाज को अपनी जातियों की दीवारों को ढहाना पड़ेगा : लक्ष्य

 
शोषण से निजात पाने के लिए बहुजन समाज को अपनी जातियों की दीवारों को ढहाना पड़ेगा : लक्ष्य
लखनऊ।  लक्ष्य की लखनऊ टीम ने "गांव-गांव जागरूकता" अभियान के तहत लक्ष्य यूथ कमांडर धर्मराज गौतम व् शैलेन्द्र आर्या के नेतृत्व में लखनऊ के बक्शी का तालाब के गांव बन्नोर में एक कैडर कैम्प का आयोजन  किया | जिसमे चिलचिलाती गर्मी के बावजूद गांव वासियो ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया | 

शोषण से निजात पाने के लिए बहुजन समाज को अपनी जातियों की दीवारों को ढहाना पड़ेगा अर्थात बहुजन समाज के लोगो को अपनी जाति के बजाये बहुजन समाज के हितो को सर्वोपरि रखना होगा और अपनी जातियों से परे बड़ी सोच के साथ विचार करना होगा तभी जाकर बहुजन समाज में एक मबजूत भाईचारा बन सकता है और जिस समाज में मजबूत भाईचारा होता है उनकी शान का डंका हर क्षेत्र में बजता है, वही समाज मान सम्मान का असली हक़दार होता है उस समाज के लोगो को किसी  से कुछ मांगने की आवश्यकता नहीं होती है जीवन की हर चीज उनके पास स्वयं चलकर आती है यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपनी सामाजिक चर्चा के दौरान कही |

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि अब समय आ गया है कि हम किसी भी प्रकार के शोषण को सहन न करे ब्लकि उसका मुहतोड़ जवाब दे | उन्होंने कहा कि शोषण का विरोध न करना ही शोषण को बढ़ावा देना है |  उन्होंने बहुजन समाज के लोगो से अपील करते हुए कहा कि आओ आपसी  मत भेद भूलकर  शोषण के खिलाफ एक मजबूत मुहीम छेड़े |

इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, संघमित्रा गौतम, मुन्नी बौद्ध, पूजा गुलाटी, मंजू वर्मा, प्रेम गीता, आशा रानी, फूलमती, सुशीला गौतम, सुमन ज्योति, सुमन  व् लक्ष्य युथ कमांडर  शैलेन्द्र आर्या, धर्मराज गौतम, अमित, अखिलेश गौतम, चन्द्रिका प्रसाद, अनूप कुमार आर्या, श्रवण कुमार, मनोज कुमार गौतम, संदीप आंबेडकर, रवि व् लक्ष्य के सलाहकार एम्. एल. आर्या  ने हिस्सा लिया |

From around the web