दीक्षांत समारोह में बुर्के में पहुंची टॉपर, ड्रेस बदलने को कहा तो बिना डिग्री लिए लौ

 
दीक्षांत समारोह में बुर्के में पहुंची टॉपर, ड्रेस बदलने को कहा तो बिना डिग्री लिए लौट गयी
नई दिल्ली। झारखंड की रांची के एक ऑटोनोमस कॉलेज मारवाडी कॉलेज की 15 सितंबर को ग्रेजुएशन सेरेमनी थी। दोपहर के लगभग 12 बज रहे थे। जगह थी, मोरहाबादी स्थित रांची विश्वविद्यालय का दीक्षांत मंडप। सेरेमनी में मुख्य अतिथि द्रौपदी मुर्मू थीं।

जैसे कि हर कॉलेज में सेरेमनी के लिए अलग- अलग ड्रेस कोड होता है तो मारवाडी कॉलेज की सेरेमनी में भी था। छात्रों को सफेद कुर्ता और पायजामा तो वहीं छात्राओं को लाल पाड़ साड़ी और लाल कलर का ब्लाउज पहनना था। अगर छात्रायें सूट पहनना चाहें तो सफेद सूट रेड सलवार भी पहन सकती थीं।

अब हम आपको मुद्दे पर लाते हैं। हुआ यह कि राज्यपाल सह कुलाधिपति मुर्मू टॉप ग्रेजुएट को सम्मानित करने के लिए मंच पर थीं। सबसे पहले ओवरऑल बेस्ट ग्रेजुएट निशत फातिमा के नाम की घोषणा हुई। निशत बुर्का पहने गोल्ड मेडल और सर्टिफिकेट लेने मंच के पास पहुंची तो उनको सेरेमनी के लिए निर्धारित कपड़ों में आने के लिए कहा गया।

लेकिन निशत ने बिना बुर्का पहने मेडल लेने से मना कर दिया और वापिस चली गईं। बता दें कि निशत अपने पिता मो. इमरामुल के साथ मेडल लेने पहुंची थीं। इसके बाद निशत के पिता ने कहा, ‘वह बिना बुर्के के कहीं भी नहीं जाती है। अब वे बेटी को कॉलेज लेकर जायेंगे और गोल्ड मेडल और सर्टिफिकेट ले लेंगे।’


ये थे ओवरऑल टॉपर स्टूडेंट्स : यूजी के सत्र 2011-14 का बेस्ट ग्रेजुएट का बीएससी मैथ की निशत फातिमा बनीं। पीजी सत्र 2012-14 का ओवरऑल टॉपर एमसीए के अदनान अनवर बने। यूजी सत्र 2012-15 का बेस्ट ग्रेजुएट मैथ के सोविक दास तथा पीजी सत्र 2013-15 का ओवरऑल टॉपर एमबीए की बिनीता कुमारी बनीं।

From around the web