एटीएम में पैसे डालने वाले दो कर्मचारी लाखों रुपये कैश लेकर फरार

 

राकेश पाण्डेय

चित्रकूट जिले के भारतीय स्टेट बैंक,पंजाब नेशनल बैंक और एचडीएफसी आदि बैंकों के करीब दस एटीएम में कैश डालने वाली सीएमएस कम्पनी के दो कर्मचारियों के लाखों का कैश लेकर फरार होने का मामला उजागर हुआ है।जिसके बाद से जिले के सभी बैंको में हडकंप मचा हुआ है। सेवा प्रदाता कम्पनी सीएमएस के आडिटर रजत मिश्रा ने बताया कि अभी तक दस में से पांच एटीएम की जांच की गई है। जिसमें करीब 48 लाख की कमी उजागर हुई है। शेष पांच अन्य की जांच की जा रहीं है। इसके बाद दोनों फरार कर्मचारियों के विरूद्ध पुलिस में तहरीर दी जायेगी।

बुंदेलखंड के चित्रकूट जिले में बैकों के एटीएम में कैश लोडिंग का काम करने वाली कम्पनी सीएमएस के दो कर्मचारियों द्वारा एटीएम मेें पैसा लोड करने की बजाय लाखों की रकम लेकर चम्पत हो जाने की खबर से हडकंप मचा हुआ है। कई दिनों से एटीएम में कैश लोडिंग न होने एवं दोनों कर्मचारियों का फोन न लगने पर मामला संदिग्ध नजर आने पर शनिवार को मामले की जांच के लिए चित्रकूट पहुंचे सीएमएस कम्पनी के आडिटर रजत मिश्रा.

उन्होंने ने बताया कि सीएमएस कम्पनी में कार्यरत फैजाबाद के प्रदीप कुमार और कानपुर के विकास कुमार चित्रकूट जिले के पीएनबी,एचडीएफसी समेत विभिन्न बैंकों के दस एटीएम में कैश लोडिंग का काम करते थे।इधर कई दिनों से अचानक दोनों कर्मचारियों द्वारा एटीएम में कैश लोडिंग न करने एवं फोन से सम्पर्क न हो पाने के कारण मामले की जांच शुरू की गई। उन्होने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक और एचडीएफसी समेत अभी तक 10 में से 05 की जांच की गई।जिसमें करीब 48 लाख रूपये कैश कम पाया गया। उन्होने बताया कि अभी 05 और एटीएम की जांच की जा रहीं है। 

जिसके बाद ही कितने लाख की हेराफेरी की गई है। उसका खुलासा हो सकेगा। उन्होने बताया कि जांच पूरी होने के बाद फरार चल रहे दोनों कर्मचारियों के विरूद्ध पुलिस में तहरीर दी जायेगी। वहीं सीएमएस कम्पनी के कर्मचारियों द्वारा किये गये एटीएम कैश में हेरीफेरी से पूरे जिले में हडकंप मचा हुआ है।अभी हेराफेरी की रकम एक करोड़ से ऊपर पहुंचने की सम्भावना जताई जा रही है।
 

From around the web