अच्छी फसल के लिए चाचा ने भतीजे का सिर किया धड़ से अलग

 
अच्छी फसल के लिए चाचा ने भतीजे का सिर किया धड़ से अलग
ओडिशा से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां अंधविश्वास के चलते एक चाचा ने अपने ही भतीजे की बलि चढ़ा दी. यह घटना ओडिशा के नौपाड़ा जिले के जडामुंडा गांव की है. यहां एक चाचा ने अपने खरीफ सीजऩ में बढिय़ा फसल हो इसके लिए अपने ही भतीजे का  सिर किया धड़ से अलग कर दिया.
इस मामले में 48 साल के चिंतामणि माझी को गिरफ्तार कर लिया गया है. रविवार को माझी को अदालत में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.
पुलिस के मुताबिक शनिवार 8 जून की सुबह आरोपी चाचा चिंतामणि माझी अपने बड़े भतीजे 18 साल के देबार्चन के साथ खेत में काम कर रहा था. सुबह 9:30 बजे के करीब उसका छोटा भतीजा 12 साल का धानसिंह उनके लिए खाना लेकर खेत में पहुंचा.
करीब आधे घंटे बाद चिंतामणि अपने छोटे भतीजे धानसिंह को पेड़ काटने के बहाने दूसरे खेत में लेकर चला गया और वहीं उसका सिर धड़ से अलग कर दिया. जब रोने की आवाज़ सुनकर धानसिंह का बड़ा भाई वहां पहुंचा तो वह हैरान रह गया.
देबार्जन ने वहीं शोर मचाना शुरू कर दिया जिसके बाद सभी गांव वाले वहां इक_ा हो गए और उन्होंने पुलिस को घटना की सूचना दी. जिसके बाद पुलिस ने माझी को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के बाद माझी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया.

From around the web