महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा करने लगेंगे आठ महीने: DMRC

 
महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा करने लगेंगे आठ महीने: DMRC
नयी दिल्ली। केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली की महिलाओं को मेट्रो व डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा देने के लिए पिंक टोकन व कार्ड देने के साथ-साथ अलग विन्डों बनाने में लगेगा आठ महीने का समय। यह कहना है डीएमआरसी का इस मुद्दे पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुये भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार की मंशा केवल झूठ बोलकर दिल्ली की जनता को गुमराह करने की है।

महिलाओं को दिल्ली मेट्रो व डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा का प्रलोभन देकर वोट बैंक की राजनीति का असफल प्रयास करना चाह रहे केजरीवाल की नीयत के ऊपर डीएमआरसी ने सत्यता की रोशनी डाली है। डीएमआरसी का कहना है कि मुफ्त यात्रा देने की परिकल्पना को पूरा करने के लिए कम से कम आठ महीने का वक्त लगेगा। स्पष्ट है कि आठ महीने बाद दिल्ली विधानसभा चुनाव हैं और फिर चुनाव से पहले आचार संहिता भी दिल्ली में लागू हो जायेगी। प्रश्न यह उठता है कि केजरीवाल दिल्ली की महिलाओं को कब मेट्रो में मुफ्त यात्रा देंगे।

लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर जनता द्वारा नकारे जाने के बाद केजरीवाल दिल्ली विधानसभा चुनाव को नजदीक पाकर झूठी घोषणाएं कर रहे हैं। तिवारी ने कहा कि डीएमआरसी के प्रपोजल आने के बाद यह साफ हो गया है कि दिल्ली में महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा देने की केजरीवाल सरकार की घोषणा पूरी तरह से झूठी है और केजरीवाल की मंशा केवल येन-केन-प्रकरेण दिल्ली की सत्ता में बने रहना है। झूठ बोलना और झूठे वादे कर दिल्ली के लोगों को ठगना केजरीवाल की राजनीति का अहम हिस्सा है।

एक तरफ केजरीवाल ने दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़ोतरी पर अपनी सहमति देकर किराया बढ़वाया दूसरी तरफ दिल्ली विधानसभा चुनाव से ठीक पहले महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त यात्रा का प्रलोफन दे रहे हैं जो कि डीएमआरसी के मुताबिक आठ महीने से पहले संभव नहीं है यदि केजरीवाल सचमुच दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गम्भीर होते और उन्हें मेट्रो की यात्रा मुफ्त देना चाहते तो यह प्रपोजल एक वर्ष पहले भी ला सकते थे। लेकिन उनकी नीयत साफ नहीं थी और वो केवल वोट बैंक की राजनीति कर रहे है।

केजरीवाल वो नाकामपंथी हैं जो अपनी नाकामियों का ठीकरा पिछले साढ़े चार वर्षों से केन्द्र सरकार पर फोड़ते रहे है। आने वाले समय में जब वो महिलाओं को मुफ्त यात्रा दे नहीं पायेंगे तो उसका ठीकरा भी केन्द्र सरकार पर फोड़ेंगे।

From around the web