सीनियर टैलंट की तलाश में ई-कॉमर्स, स्टार्टअप सेक्टर

 
सीनियर टैलंट की तलाश में ई-कॉमर्स, स्टार्टअप सेक्टरसीनियर टैलंट के लिए भले ही सामान्य जॉब मार्केट ठंडा हो, लेकिन ईकॉमर्स और स्टार्टअप सेक्टर में कहानी बिल्कुल अलग है। बेहतर फंडिंग, मर्जर ऐंड एक्विजिशन से जुड़ी गतिविधियों में बढ़ोतरी, मोबाइल डेटा के इस्तेमाल में बंपर उछाल, ई-कॉमर्स सेक्टर के मैच्योर होने के चलते इनकी ग्रोथ काफी तेज हुई है। ये कंपनियां टॉप लेवल पर सीनियर टैलंट को हायर कर रही हैं।
एमेजॉन, फ्लिपकार्ट, स्विगी, पेटीएम, ओयो, ओला या जोमैटो हो या हाल ही में पहले या दूसरे राउंड का फंड जुटाने वालीं स्टार्टअप, सब सीनियर टैलंट को हायर कर रही हैं। सर्च फर्मों ने बताया कि पिछले एक साल में इन सेक्टर में सीनियर टैलंट की हायरिंग में 40 से 100 पर्सेंट की बढ़ोतरी हुई है।
एफआईडीआईयूएस एडवाइजरी के मैनेजिंग पार्टनर, अनुज रॉय ने बताया, ऑनलाइन सेक्टर में हायरिंग तेजी से बढ़ी है। उनकी कंपनी से 13-14 सीनियर टैलंट के लिए संपर्क किया गया है, जिनकी संख्या पिछले साल 7 से 8 थी। बेंगलुरु के लॉन्गहाउस कंसल्टिंग को कंपनियों ने पिछली तिमाही में 30 सीनियर टैलंट्स ढूंढने को कहा था। इस तिमाही में यह संख्या 75 हो गई है। इनमें से ज्यादातर ई-कॉमर्स सेक्टर से जुड़ी कंपनियां हैं। रॉय ने कहा कि सीनियर टैलंट की हायरिंग में बढ़ोतरी घरेलू स्टार्टअप सिस्टम में तेजी को दिखाती है।
कंसल्टेंट्स का कहना है कि पिछले 6-7 महीनों में हायरिंग तेज हुई है। एक आकलन के मुताबिक, इस दौरान ई-कॉमर्स और स्टार्टअप सेक्टर में करीब 350 से 400 सीनियर टैलंट की हायरिंग हुई है। सिर्फ पिछले हफ्ते में ओयो होटल्स ने इंडिगो के पूर्व प्रेसिडेंट आदित्य घोष को अपने इंडिया और साउथ एशिया बिजनस का सीईओ नियुक्त किया। फ्लिपकार्ट ने स्मृति सिंह को ह्यूमन रिसोर्स के हेड के रूप में हायर किया। मेकमायट्रिप ने विपुल प्रकाश को चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर बनाया है। फ्रेशवर्क ने दो सीनियर लेवल पर हायरिंग की। यहां तक कि दूधवाला जैसी छोटी स्टार्टअप ने भी सीएक्सओ रोल में अप्वाइंटमेंट किए हैं।
कौन कर रहा है हायरिंग? 
कंसल्टेंट्स ने बताया कि हाल में बनी कंपनी से लेकर यूनिकॉर्न तक टॉप टैलंट को हायर कर रही हैं। एक तरह फ्लिपकार्ट, एमेजॉन और स्विगी जैसी कंपनियां हैं, जिन्होंने हायरिंग को लेकर आक्रामक रुख अपनाया है। दूसरी तरफ 5 लाख डॉलर से ज्यादा का फंड जुटाने वाली कई स्टार्टअप कंपनियां हैं।
इन जॉब्स की डिमांड 
बिजनस, ऑपरेशंस और सप्लाई सेगमेंट में सैलरी हाइक में कुछ कमी आई है। हालांकि टेक्नॉलजी और प्रॉडक्ट से जुड़े रोल पर अभी भी अच्छी हाइक ऑफर की जा रही है। लॉन्गहाउस कंसल्टिंग के मैनेजिंग डायरेक्टर अंशुमान दास ने बताया कि डेटा साइंस, प्रॉडक्ट, फ्रंट-ऐंड इंजिनियर, बैक-एंड इंजिनियर और फुलस्टेक डिवलेपर्स की भारी मांग है।

From around the web