10 रुपए में घर बैठक कर सकते हैं गौ सेवा

 
10 रुपए में घर बैठक कर सकते हैं गौ सेवाएसपी मित्तल 
भारत की सनातन संस्कृति में गाय को माता का दर्जा दिया गया है। जीवन में कष्ट होने पर पंडित और ज्योतिष विद्वान भी गौ सेवा का संकल्प करवाते हैं। सनातन संस्कृति के परिवारों में आज भी पहली रोटी गौ माता की बनाई जाती है लेकिन वर्तमान हालातों में गौ माता की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। गाय जब तक दूध देती है तब तक तो गौ पालक ख्याल रखता है, लेकिन जब दूध देना बंद कर देती है तो उसे लावारिस छोड़ दिया जाता है। यही वजह है कि सरकारी स्तर पर भी गौ शालाएं खोली गई है। 

ऐसी ही एक गौशाला का संचालन अजमेर नगर निगम द्वारा किया जा रहा है। लेकिन अब निगम की गौशाला में गायों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसलिए हरे चारे की मांग भी बढ़ने लगी है। निगम की गौशाला में गायों को भरपेट चारा खिलाने के लिए सामाजिक संस्था सारथी आपके साथ ने अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन की युवा शाखा के सहयोग से गौमाता की सेवा की अनूठी पहल शुरू की है। 

इस पहल के मुखिया मनीष गोयल ने बताया कि कोई भी व्यक्ति दस रुपए की राशि देकर गौ माता की सेवा घर बैठ कर सकता है। उनके संस्थान ने निगम की गौशाला में प्रतिदिन एक हजार रुपए का हरा चारा उपलब्ध करवाने का संकल्प लिया है। इसमें जनसहयोग की भी आवश्यकता है। यदि सौ लोग प्रतिदिन दस रुपए की राशि जमा कराएंगे तो रोजाना एक हजार रुपए का चारा उपलब्ध करवाया जा सकता है। 

इसमें जनसहयोग अपेक्षित है। गोयल ने बताया कि सारथी संस्था के पेटीएम नम्बर 7665533228 पर चारे की राशि जमा करवाई जा सकती है। इसी प्रकार अजमेर की पंजाब एंड सिंध बैंक के बैंक अकाउंट नम्बर 05271100001604 (आईएफएससी कोड पीएसआईबी 0000527) में भी तीन सौ रुपए की राशि जमा करवाई जा सकती है। इस संबंध में और अधिक जानकारी मोबाइल नम्बर 9928086426 पर मनीष गोयल से ली जा सकती है। 

From around the web