गाजीपुर हिंसा योगी के ठोक दो बयान की उपज

 
गाजीपुर हिंसा योगी के ठोक दो बयान की उपज
गाजीपुर के नौनेरा क्षेत्र में शनिवार को पत्थरबाजी के दौरान पुलिस कॉन्स्टेबल सुरेश वत्स की मौत को लेकर अब यूपी में सियासत भी गरम है।

बुलंदशहर के बाद अब गाजीपुर में भीड़ द्वारा पुलिसकर्मी को निशाना बनाए जाने की घटना पर समाजवादी पार्टी चीफ और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। अखिलेश ने कहा कि सदन हो या कोई अन्य मंच, सीएम योगी की एक ही भाषा है, 'ठोक दो।' यह घटना इसी का नतीजा है।

दरअसल, आरोप है कि पीएम मोदी की रैली से लौट रहे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के समर्थकों की गाड़ियों पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) और निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पथराव किया। बाद में दोनों पक्षों की ओर से पत्थरबाजी होने लगी, जिसके चलते पुलिस को भी हस्तक्षेप करना पड़ा।

इसी दौरान कॉन्स्टेबल सुरेश वत्स समेत आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए। बाद में उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

इस घटना पर सियासी घमासान जारी है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने इसके लिए सीएम योगी के व्यवहार पर सवाल उठाए। अखिलेश ने कहा, 'यह घटना इसलिए हुई है क्योंकि सीएम सदन में हों या किसी मंच पर उनकी एक ही भाषा है, ठोक दो। कभी पुलिस को नहीं समझ आता किसे ठोकना है और कभी जनता को नहीं समझ आता, किसे ठोकना है।' 

From around the web