हॉस्टल में जमकर पत्थरबाजी, मचाया उपद्रव, बुलानी पड़ी पुलिस

 
हॉस्टल में जमकर पत्थरबाजी, मचाया उपद्रव, बुलानी पड़ी पुलिसछत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पेंशनबाड़ा स्थित शासकीय मैट्रिक और पोस्टमैट्रिक छात्रावास में फिर उपद्रव हो गया। गुरुवार को सुबह एक पक्ष के छात्रों ने दूसरे पक्ष के हॉस्टल में जमकर पत्थरबाजी की।

इससे खिड़की के शीशे टूट गए। घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस जवान पहुंचे। आदिमजाति कल्याण विभाग के अधिकारी भी पहुंचे। हालांकि रात में पुलिस बल तैनात था।

इसके बावजूद एक पक्ष के छात्रों ने जमकर उपद्रव मचाया और भाग निकले। दोनों पक्षों में तनाव को देखते हुए प्रशासन ने दोनों हॉस्टल के छात्रों को 15 जनवरी तक छुट्टी में भेज दिया। और दोनों हॉस्टल में ताले लगवा दिए। इससे पहले दोनों पक्षों के बीच समझौता कराने की कोशिश की गई थी, लेकिन इसमें सफलता नहीं मिली।

दोनों पक्ष के छात्रों ने मारपीट और तोडफ़ोड़ की है। पुलिस इसकी जांच कर रही है। डॉयल 112 की गाड़ी में तोडफ़ोड़ की थी। सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में कुछ छात्र नजर आए हैं। पुलिस इसकी जांच कर रही है। हॉस्टल में सुरक्षा व्यवस्था भगवान भरोसे है।

आदिमजाति कल्याण विभाग ने हॉस्टल किसी तरह की सुरक्षा व्यवस्था नहीं की है। छात्रों के आने-जाने का कोई समय निर्धारित नही है। और न ही नियमित रूप से कमरों की जांच-पड़ताल होती है।

पेंशनबाड़ा रायपुर का काफी पुराना हॉस्टल है। इसमें करीब पांच सौ विद्यार्थी रहते हैं। सभी ग्रामीण इलाके के हैं। पिछले कुछ सालों से ये हॉस्टल राजनीति का शिकार हो रहा है। अलग-अलग राजनीति दल से जुड़े नेता छात्र नेताओं को अपने झांसे में लेते हैं। और अपने स्वार्थ के लिए उनका इस्तेमाल करते हैं। हॉस्टल के छात्रों के दो पक्षों के बीच मारपीट होने की वजह भी यही नेता है।

सूत्रों के मुताबिक एक राजनीतिक दल से जुड़े छात्र ने सभी को उकसाया था। इसके बाद दूसरे पक्ष के विद्यार्थियों पर हमला किया गया था। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच लगातार विवाद हो रहा है।

From around the web