आग में झुलसी अनाथ बच्ची के इलाज के लिए पति-पत्नी ने बेचा घर का सामान

 
आग में झुलसी अनाथ बच्ची के इलाज के लिए पति-पत्नी ने बेचा घर का सामानसूरत के वराछा इलाके में रहने वाले लिंबाचिया दंपति ऐसी मासूम बच्ची का पालन पोषण कर रहे हैं, जिसने नौ महीने पहले अपने पूरे परिवार को खो दिया था।

इस दंपति ने मासूम हैनी के इलाज के लिए न सिर्फ ब्याज पर पैसे उधार लिए, बल्कि अपने घर का काफी सामान तक बेच डाला। दरअसल, 9 महीने पहले घर में आग लगने से मासूम हैनी का पूरा परिवार खत्म हो गया था। इस हादसे में 45 दिन की हैनी का मुंह का हिस्सा भी काफी झुलस गया था।

इसके बाद लिंबाचिया दंपति ने इस अनाथ बच्ची को अपना लिया और उपचार करवा कर उसे फिर खूबसूरत बना दिया। इसके लिए दंपति ने सिर्फ ब्याज पर रुपये ही नहीं लिए, बल्कि अपने घर का सामान तक बेच दिया।

नीलेश पेशे से फोटोग्राफर हैं और स्टूडियो चलाते हैं। आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के बावजूद वे हैनी को लेकर कई अस्पताल घूमे और उसका उपचार करवाया। उन्होंने हैनी के इलाज के लिए अपने कैमरे और घर के सामान तक बेच डाले। हैनी का पालन-पोषण करने वाले नीलेश लिंबाचिया का कहना है कि आज ये बच्ची ही उनके लिए सब कुछ है।

From around the web