पत्नी से पीछा छुड़ाने को पति बन गया पुजारी

 
पत्नी से पीछा छुड़ाने को पति बन गया पुजारीमुरादाबाद। पत्नी से पीछा छुड़ाने को पति घर से गायब होकर मंदिर का पुजारी बन गया। एक दिन फेसबुक पर फोटो देखकर पत्नी ने पहचान लिया। इसकी सूचना पुलिस को दी तो पुलिस ने सर्विलांस की मदद से पति को पकड़ लिया है।

सिविल लाइन के चंद्रनगर निवासी राजाराम की बेटी कंचन दिवाकर का विवाह छह वर्ष पूर्व लाइन विकास नगर निवासी जल निगम में क्लर्क शशांक उर्फ विक्की के साथ हुआ था। विवाह के बाद कंचन ने एक बेटी कनिष्का को जन्म दिया। उसके बाद विवाद बढ़ने पर 20 दिसंबर 2014 को शशांक पत्नी कंचन और बेटी कनिष्का को छोड़कर लापता हो गया।

इस बीच कंचन के परिजनों ने शशांक समेत परिवार के सदस्यों पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करवा दिया तो शशांक के परिजनों ने बेटे के अपहरण का ससुरालियों पर मुकदमा दर्ज करवा दिया। इस बीच पुलिस ने मुकदमे में एफआर लगा दी। कंचन रोजाना पति शशांक का फेसबुक अकाउंट चेक करती थी। एक दिन शशांक ने फेसबुक पर फोटो अपलोड कर दिए।

इसकी सूचना कंचन के परिजनों ने पुलिस को दी। सर्विलांस टीम ने शशांक को हरिद्वार के सिडकुल स्थित एक मंदिर से पकड़ लिया है। शशांक हुलिया बदलकर पुरोहित बन चुका था। शशांक ने पत्नी से छुटकारे के साथ दहेज उत्पीड़न के मुकदमे से बचाव के लिए पुरोहित बनना स्वीकार किया है।

From around the web