इस गांव में प्रथा के नाम पर लड़की के साथ होती है ना इंसाफी, होते हैं 5 से 8 पति

 
इस गांव में प्रथा के नाम पर लड़की के साथ होती है ना इंसाफी, होते हैं 5 से 8 पतिआज के इस मार्डेन टाइम में जहां महिलाएं पुरूषों के साथ-साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है वहीं दुनिया के कई देशों में आज भी महिलाएं अजीब रस्में और रीति-रिवाज निभा रही है। आज हम आपको एक ऐसे ही गांव के बारे में बताने जा रहें है जहां एक महिला के 5 से 8 पति होते है।

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में लड़कियों की कमी के कारण उनकी शादी 5 भाइयों की जाती है। यहां पर एक ही छत के नीचे रहने वाली लड़की की उसके 5 भाइयों से परंपरा अनुसार शादी करवा दी जाती है और इसके बाद वो विवाहित जीवन जीते है। इसके अलावा लड़की के किसी एक पति की मृत्यु होने पर उसे शौक मनाने नहीं दिया जाता।

किन्नौर में विवाह की पंरपरा भी अजीब तरीके से निभाई जाती है। यहां लड़की के परिवार वाले लड़को के बारे में पूरी तरह जानकारी लेते है। विवाह के समय सभी भाई दूल्हे के रूप में आते है।


यहां महिलाओं को ही घर की मुखिया माना जाता है। संतान की देखभाल से लेकर घर चलाने की सारी जिम्मेदारी औरतों की ही होती है। यहां पर परिवार की सबसे बड़ी स्त्री को 'गोयने' और उसके सबसे बड़े पति को 'गोर्तेस' कहा जाता है। यहां पुरूष दुखी होने पर शराब और तम्बाकू के सेवन करते है, जबकि महिलाए दुख में गीत गाती है।

From around the web