इंदिरा ने बिना आरक्षण दिखाई ताकत: नितिन गडकरी

 
इंदिरा ने बिना आरक्षण दिखाई ताकत: नितिन गडकरीकेंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ करते हुए कहा है कि उन्होंने बिना कोटे के अपनी क्षमता को साबित किया था।

गडकरी ने कहा कि इंदिरा गांधी को अपनी क्षमता साबित करने के लिए आरक्षण की जरूरत नहीं पड़ी और कांग्रेस के पुरुष नेताओं के मुकाबले वह बेहतर साबित हुईं। बीजेपी के दिग्गज नेता ने कहा कि वह महिला आरक्षण के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन जाति और पंथ की राजनीति के खिलाफ हैं।

गडकरी ने रविवार को नागपुर में महिला स्वयं सहायता समूहों के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात कही। बता दें कि देश में आपातकाल लगाए जाने को लेकर बीजेपी इंदिरा गांधी की तीखी आलोचक रही है। गडकरी ने सवालिया अंदाज में कहा कि इंदिरा गांधी कांग्रेस के अन्य पुरुष नेताओं के मुकाबले इक्कीस साबित हुईं। क्या यह आरक्षण के चलते था?

उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन भी बिना किसी आरक्षण के राजनीति में बड़े मुकाम पर पहुंची हैं। गडकरी ने कहा कि मैं महिला आरक्षण के खिलाफ नहीं हूं, महिलाओं को रिजर्वेशन मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं जाति और पंथ के आधार पर राजनीति का विरोधी हूं। गडकरी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने ज्ञान के चलते आगे बढ़ता है, भाषा, जाति, धर्म और क्षेत्र के चलते ऐसा नहीं होता। 

From around the web