आखिर खुद का ही यूरिन क्यों पी रहे है यहां के लोग?

 
आखिर खुद का ही यूरिन क्यों पी रहे है यहां के लोग?
आजतक आपने कई लोग ऐसे देखे होंगे जो हेल्थ ड्रिंक पीते है ताकि उनका स्वास्थ्य सही एवम ठीक ठाक रहे। लेकिन चीन के कुछ लोगों ने एक संस्था बनाई है, जिसमे लोग अपने बेहतर स्वास्थ्य के लिए खुद का यूरिन पी रहे हैं। यह सुनकर आपको हैरानी तो हुई ही होगी। लेकिन यह बिल्कुल सच है। चीन की यह संस्था यूरिन पीने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करती है।
वुहान सिटी के कंगयुयुयान रेसिडेंशियल एरिया में स्थित इस संस्था का नाम चीन यूरिन थेरेपी एसोसिएशन है। दरअसल, इस संस्था से जुड़े लोग बेहतर हेल्थ की खातिर खुद का यूरिन पीते हैं। इसकी शुरुआत बाओ याफु और यी डोंगशान नाम के दो शख्स ने की थी। ये लोग रोजाना सुबह-सुबह चीन यूरिन थेरेपी एसोसिएशन के बाथरूम से निकलते हैं। वे वहां पर कप में यूरिन निकालते हैं और बाहर आकर पी जाते हैं। ये आपस में चर्चा करते हैं कि वाकई में ये बहुत ही टेस्टी ड्रिंक था। बिल्कुल लाइट चाय की तरह।
यूरिन थेरेपी एसोसिएशन नाम की इस संस्था से जुड़े लोगों का कहना है कि अपना मूत्र पीने से घाव, कब्ज और गंजेपन से मुक्ति मिलती है। इसके अलावा कई अन्य फायदे भी हैं। चीन में इस संस्था से जुड़े लोग अपनी आंख और चेहरे को भी यूरिन से साफ करते हैं। ऐसा मानना है कि इससे आंखों की रोशनी बरकरार रहती है साथ ही चेहरे पर भी रौनक आती है। इतना ही नहीं, इस संस्था से जुड़े लोगों का मानना है कि खुद के यूरिन को पीने वाले व्यक्ति को कोई भी बीमारी नहीं हो सकती है। यूरिन पीने के लिए बनी ये संस्था साल 2008 में बनाई गई थी।
हालांकि, अब तक चीन हेल्थ डिपार्टमेंट ने इसे आधिकारिक तौर पर मान्यता नहीं दी है। बावजूद इसके, साल 2010 में इस संस्था से तकरीबन 800 लोग सदस्य के रूप में जुड़े थे, जो अब बढ़कर 1000 तक हो गई है। ये सभी लोग रोजाना सुबह एसोसिएशन की बिल्डिंग में आते हैं और बाथरूम में अपना मूत्र त्यागकर उसे पी जाते हैं। इसके अलावा अलग-अलग तरह के एक्सरसाइज भी करते हैं। इसके आलावा भारत के प्रधानमंत्री रह चुके, मोरार जी देसाई भी स्वमूत्र सेवन करते थे।
-सांकेतिक तस्वीर 

From around the web