रोज़ाना दुबई के नौजवानों की टीम सेहरी में बांटती है 50 हज़ार खाने के पैकेट

 
रोज़ाना दुबई के नौजवानों की टीम सेहरी में बांटती है 50 हज़ार खाने के पैकेट
UAE में रमज़ान उल मुबारक के मुक़द्दस महीने में अलग माहौल देखने को मिला है,इफ्तार के लिए शेख ज़ायेद ग्रैंड मस्जिद में 30 हज़ार रोज़ेदार इफ्तार करते हैं। इसी तरह सेहरी में भी खाने के पैकेट तक़सीम होते हैं।

रमज़ान उल मुबारक के महीने में पुलिस अधिकारी और संवयसेवक तरावीह की नमाज़ पढ़ने के बाद सेहरी की तैयारी में लग जाते हैं,जिसके लिये कई टीम बनती हैं जो रोजेदारों तक सेहरी के वक़्त तक उनके खाने पीने का सामान पहुंचाती हैं।

गाड़ियों में भरकर सैकड़ों खाने के बक्से, फलों के बक्से और पानी की बोतलें उतारती है, दूसरी टीम आंगन के अंदर की वस्तुओं को उठाती है और बड़े करीने से उन्हें प्लास्टिक की मेज पर व्यवस्थित करती है जहां एक तीसरी टीम उनके वितरण में मदद करती है। “यल्ला, यल्ला (जल्दी करो)” टीम के नेताओं ने उत्साहपूर्वक करने का आदेश देते हैं।

सीडीए ने कहा कि हमारा सुहोर ऑन ‘कार्यक्रम प्रतिदिन 50,000 तक पूरा करता है। इसी तरह की पहल पूरे रमजान में अल ऐन और उम्म अल क्वैन में आयोजित की जाती है। सीडीए द्वारा हर रात 1,300 से अधिक भोजन वितरित किए जाते हैं। इसमें एक मुख्य पाठ्यक्रम, फल, पानी और खजूर शामिल हैं।

31 वर्षीय भारतीय कार्यकर्ता अरशद आलम, जो दुबई में अपना पहला रमजान देख रहे हैं, ने कहा कि वह यूएई के शासकों की उदारता से अभिभूत हैं। “न केवल मुझे मुफ्त इफ्तार मिलता है, बल्कि मुफ्त में खाना भी मिलता है। जो स्वयंसेवक मुझे सुहोर भोजन खिलाते हैं, वे विनम्र होते हैं और हमेशा मुझ पर मुस्कुराते हैं। यह बहुत ही मार्मिक है,

From around the web