दोनों हाथ न होने के बावजूद कड़ी मेहनत की बदौलत पायलेट बनी ये महिला...

 
दोनों हाथ न होने के बावजूद कड़ी मेहनत की बदौलत पायलेट बनी ये महिला...
दुनिया में ऐसे तमाम लोग हैं जो दिव्यांग होते हैं और इस वजह से वो हताश और निराश रहने लगते हैं लेकिन अमेरिका में एक ऐसी महिला है जिसने जिंदगी के आगे कभी भी घुटने नहीं टेके और कड़ी मेहनत की बदौलत अपना पायलेट बनने का सपना पूरा किया। बता दें कि जेसिका कॉक्स विश्व की पहली लाइसेंस महिला आर्मलेस पायलेट हैं। जेसिका सिर्फ अपने पैरों की मदद से अपना हर जरूरी काम कर लेती हैं जिसे देखकर लोगों को काफी हैरानी होती है। जेसिका ने 22 साल की उम्र में प्लेन उड़ाना सीखना शुरू किया था।

From around the web