यहां सेनेटरी नैपकिन के बदले 'जिस्म' बेचने को तैयार रहती हैं लड़कियां

 
यहां सेनेटरी नैपकिन के बदले 'जिस्म' बेचने को तैयार रहती हैं लड़कियांनई दिल्ली। आज हम आपको अफ्रीकन महाद्वीप में स्थित देश केन्या के हालातों के बारे में बताएंगे जिसके बारे में जानकर आपको दुख भी होगा और हैरानी भी होगी। केन्या की राजधानी नैरोबी के कई इलाकों में वर्तमान समय में भी पीरियड्स को लेकर लोग खुलकर बात नहीं करते हैं। यह उनके लिए शर्म की बात होती है। बात करना तो दूर यहां के लोग पीरियड्स को लेकर तरह-तरह की मान्यताओं का पालन करते हैं।

यहां की लड़कियों की हालत इन सभी कारणों के चलते बदहाल है। नैरोबी के कई इलाकों में महज एक सेनेटरी नैपकीन के लिए लड़कियां अपना शरीर तक बेचने को तैयार है।

यूनिसेफ के एक शोध में इसका खुलासा किया गया है। इसमें बताया गया है कि, नैरोबी के किबेरा क्षेत्र में करीब 65 फीसदी महिलाएं सिर्फ एक सेनेटरी पैड के लिए अपना शरीर तक बेचने को तैयार रहती हैं।

एक चैरिटी संस्था के सर्वे में खुलासा किया गया कि पश्चिमी केन्या में करीब 10 फीसदी लड़कियां ऐसी हैं, जिन्होंने शादी से पहले एक पैड के लिए अपने शरीर का सौदा किया है। यूनिसेफ की रिसर्च यह भी कहती है कि केन्या में 54 फीसदी लड़कियां को पीरियड्स के दौरान बेसिक हाइजीन की सुविधा भी उपलब्ध नहीं हैं।

 मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, केन्या में यूनिसेफ के मुख्य अधिकारी एंड्रयू ट्रेवेट का इस बारे में कहना है कि, यहां पर गरीबी की मात्रा बहुत ज्यादा है। ऐसे में सेनेटरी आइटम्स के बदले टैक्सी ड्राइवर के साथ संबंध बनाना यहां की लड़कियों के लिए कोई नई बात नहीं है।

From around the web