स्किन कलर की वजह से धुतकारते थे लोग, अब इसी वजह से बन गयी स्टार

 
स्किन कलर की वजह से धुतकारते थे लोग, अब इसी वजह से बन गयी स्टार नई दिल्ली। क्वीन ऑफ डार्क का खिताब अपने नाम करनेवाली न्याकिम गैटवेच ने ये साबित किया है कि खूबसूरती गोरे रंग की मोहताज नहीं है और काला होना कोई अभिशाप नहीं. आपको बता दें कि न्याकिम को यह खिताब किसी और ने नहीं बल्कि इंटरनेट की इसी दुनिया ने दिया है।
स्किन कलर की वजह से धुतकारते थे लोग, अब इसी वजह से बन गयी स्टार
दक्षिणी सुडान की मॉडल न्याकिम गैटवेच को अपने रंग पर बेहद नाज है और उनका मानना है कि काला होना कोई अभिशाप नहीं है. न्याकिम अपने इसी डार्क स्किन के जरिए दुनियाभर में मशहूर हो गई है और इंटरनेट पर धूम मचा रखी है।
स्किन कलर की वजह से धुतकारते थे लोग, अब इसी वजह से बन गयी स्टार
क्वीन ऑफ डार्क कही जानेवाली न्याकिम का मानना है कि रंग-रुप अगर ऊपरवाले की देन है तो फिर जो मिला है उसे एक उपलब्धि मानकर उसका सम्मान करना चाहिए और यही वजह है कि न्याकिम को अपने काले रंग से नफरत नहीं बल्कि प्यार है।

इंटरनेट की दुनिया में तहलका मचानेवाली न्याकिम अपने शरीर के काले रंग को भगवान का दिया हुआ वरदान मानती हैं और भगवान द्वारा दिए गए इस रंग से बेहद प्यार भी करती हैं। 

From around the web