जबरन धर्मान्तरण के बाद दो हिन्दू लड़कियों को कराई गई सुरक्षा मुहैया

 
जबरन धर्मान्तरण के बाद दो हिन्दू लड़कियों को कराई गई सुरक्षा मुहैयापाकिस्तान के सिंध प्रांत दो हिन्दू बच्चियों के अपहरण और कथित धर्म परिवर्तन करने के मामले में अदालत ने आदेश दिए हैं. जियो न्यूज के अनुसार इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि दोनों नाबालिग बच्चियों की कस्टडी ली जाये और उनकी सुरक्षा सुनिश्चति की जाये.
इससे पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी पाकिस्तान स्थित भारतीय हाईकमिश्नर से दो हिन्दू बच्चियों के अपरहण पर रिपोर्ट भेजने को कहा था. कथित तौर पर दो बच्चियां सिंध क्षेत्र से अपहृत कर ली गईं और उनका धर्म परिवर्तन करा दिया गया. घटना होली के एक दिन पहले शाम की बताई जा रही है.
मंगलवार को भी सुषमा ने ट्वीट कर इस मुद्दे को उठाया. सुषमा ने ट्वीट कर कहा कि पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन मामले लड़कियों की उम्र पर कोई विवाद नहीं है. रवीना सिर्फ 13 साल की हैं और रीना 15 साल की हैं.
यहाँ तक कि नाया पाकिस्तान के प्रधान मंत्री भी इस बात पर विश्वास नहीं करेंगे कि इस एक उम्र की लड़कियां स्वेच्छा से किसी दूसरे धर्म और विवाह में अपने धर्म परिवर्तन के बारे में फैसला कर सकती हैं. न्याय की मांग है कि इन दोनों लड़कियों को तुरंत उनके परिवार के पास पहुंचाया जाये.

From around the web