शादी नहीं करना चाहती यहां की महिलाऐं, सरकार दे रही शादी के लिए तमाम प्रलोभन

 
शादी नहीं करना चाहती यहां की महिलाऐं, सरकार दे रही शादी के लिए तमाम प्रलोभननई दिल्ली।  वर्तमान में दक्षिण कोरिया दुनिया की सबसे कम जन्म दर और पेंशन फंडिंग की कमी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं श्रमिकों में कमी भी इस समस्या को बढ़ा रही है।

बैके का कहना है कि समाज उनके 30 की उम्र में भी शादी न करने को मेरी विफलता के रूप में देखता है। लेकिन मेरा मानना है कि ऐसा न करके मैंने अपने लिए ज्यादा महत्त्वकांक्षी भविष्य को चुना है और इसमें कुछ गलत नहीं है।

बैके कहती हैं कि सरकार का वर्तमान रवैया महिलाओं को बुरी तरह प्रभावित कर रहा है। उनका तर्क है कि सरकार जन्म दर बढ़ाने के लिए जिन नीतियों का अनुसरण कर रही है वे महिलाओं के लिए प्रताडऩा से कम नहीं हैं। क्योंकि वे मां बनने के बाद माताओं के कॅरियर और बच्चों के पालन पोषण संबंधी वित्तीय मामलों में आने वाली कानूनी अड़चनों को दूर नहीं करते हैं।

वहीं अगर जन्म दर की बात करें तो दक्षिण कोरिया 2016 के बाद से एशिया-प्रशांत क्षेत्र के आर्थिक सहयोग तथा विकास संगठन (ओईसीडी) देशों में सबसे निचले स्थान पर है। इस साल यह दर और भी कम है।

विश्व बैंक, दक्षिण कोरिया और प्यूर्टो रिको 2017 के संकलित आंकड़ों के अनुसार दक्षिण कोरिया में जन्म दर प्रतिप्रति 1 हजार पर सात बच्चों की जन्मदर है। इसके बाद जापान और फिर हांगकांग का नंबर आता है। दक्षिण कोरिया की राष्ट्रीय सांख्यिकी एजेंसी के अप्रेल में जारी आंकड़ों से पता चलता है कि जन्म दर फरवरी माह में पिछले साल की तुलना में 7 फीसदी से भी कम हो गई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 में मृत्युदर जन्मदर से ऊंची रहने का अनुमान है। वहीं एजेंसी की एक अन्य रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि कम ही महिलाएं हैं जो शादी को जरूरी मानती हैं। 2010 में, दक्षिण कोरिया में 64.7 फीसदी महिलाओं ने कहा था कि महिलाओं के लिए विवाह करना आवश्यक है जबकि 2016 में हुए सर्वे में केवल 47.1 फीसदी महिलाओं ने इस पर सहमती जताई।


सरकार विवाह विशेषकर मातृत्त्व सुख के लिए महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए इंसेंटिव की पेशकश भी कर रही है। दक्षिण कोरिया की नई प्रशासनिक राजधानी बनने वाली सेजोंग शहर में जून माह में आयोजित एक कार्यक्रम में 30 अविवाहित महिला-पुरुषों ने हिस्सा लिया था। कार्यक्रम का उ्ददेश्य एकल कामकाजी पुरुषों और महिलाओं को मनोरंजक गतिविधियों और वार्ता में शामिल कर शादी के लिए प्रोत्साहित करना था।

From around the web