कुंवारी लड़कियों के खून से नहाती थी ये खूबसूरत रानी...

 
कुंवारी लड़कियों के खून से नहाती थी ये खूबसूरत रानी...महिलाएं अपनी सुंदरता के लिए क्या कुछ नहीं करती और ये कोई नयी बात नहीं है। प्राचीन काल से महिलायें अनेक तरह के सौंदर्य प्रसाधनों का इस्तेमाल करती आ रही है। आज हम आपको बताने जा रहे है एक ऐसी रानी के बारे में जो अपनी खूबसूरती को अमर रखने के लिए जवान लड़कियों के खून से नहाती थी। इतना ही नहीं वो जबरन अपने नौकरों के साथ संबंध भी बनाती थी।

आपने दूध, गुलाब और केसर का शाही स्नान तो पहले सुना होगा पर ये रानी इन सब से काफी ज्यादा आगे थी। हंगरी के शाही परिवार से ताल्लुख रखने वाली यह महिला अपनी खूबसूरती बनाए रहने के लिए लड़कियों और महिलाओं को मौत के घाट उतारती थी। इस रानी का नाम एलिजाबेथ बाथरी था।

इस रानी साल 1585 से 1610 के दौरान यानि सिर्फ 25 साल के अंतराल में करीब 600 लड़कियों को मौ’त के घाट उतार दिया था। एलिजाबेथ ने ये सभी हत्याएं स्लोवानिया के चास्चिस स्थित अपने महल में की थी। आप जानकार हैरान रह जायेंगे की रानी ने खुद ये सारी हत्याएं की।

कहा जाता है की रानी केवल कुँवारी लड़कियों को चुनकर अपने महल में बुलाती थी और फिर उन्ही हत्या कर देती थी। बात यहां खत्म नहीं होती , हत्या करने के बाद वो अपने ख़ास सहायक की मदद से लड़की के जिस्म से सारा खूब निकाल कर इकट्ठा करती थी और फिर उसी खून में नहाती थी क्योंकि उसे लगता था की ऐसा करने पर उसकी सुंदरता अमर रहेगी और वो कभी बूढी नहीं होगी। ऐसा करने के बाद वो अपनी किसी भी नौकर को पकड़कर उसके साथ संबंध बनाती थी।

इस बेरहम काम को करने में वो जरा भी नहीं हिचकिचाई और ये भी कहा जाता है की मारने से पहले वो लड़कियों पर खूब जुल्म और अमानवीय तरीके से अत्याचार करती थी। जब प्रजा में इस बात का विरोध बढ़ा तब हंगरी के राजा ने साल 1610 में उसे गिरफ्तार कर जेल में डलवा दिया।


21 अगस्त 1614 को कैद के दौरान ही उसकी मौ’त हो गई थी लेकिन हंगरी का इतिहास उसे कभी भुला नहीं पाएगा। एलिजाबेथ बाथरी के जीवन पर कई किताबें भी लिखी जा चुकी है और फ़िल्में भी बनायीं जा चुकी है।

From around the web