चुड़ैलों के गाँव मे आज भी औरतो को जलाया जाता है ज़िंदा

 
चुड़ैलों के गाँव मे आज भी औरतो को जलाया जाता है ज़िंदा
शायद कभी चुड़ैलों के गांवों के बारे में सुना या देखा है। हाल ही में इनकी जिंदगी का मंजर म्यूनिख फोटोग्राफर ने अपनी फोटोग्राफी के जरिए पूरी दुनिया को दिखाया है। 

फोटोग्राफर का कहना है कि चुडैलों के इस गांव में औरतें झोपडि़यां बनाकर रहती है। दरअसल अफ्रीका के घाना में इस तरह के 6 गांव है जो की चुड़ैलों के गांव के नाम से मशूहर है जहां वो महिलाएं रहती है जिन्हे समाज से  बहिष्कृत कर दिया जाता है।

इस तरह के अंधविश्वास के पीछे का एक अजीबोगरीब कारण बताया जाता है। जो कि इस गांव की महिलाओं को चुड़ैल घोषित कर दिया जाता है और उन्हे इतनी प्रताडित किया जाता है।

कि वह अपना घर-परिवार सब छोड़ने को मजबूर हो जाती है। कई बार तो इस गांव में जिंदा महिला को भी जला दिया जाता है। यह सब एक अंधविश्वास के चलते ही हुआ है।

घाना में इस तरह के 6 गांव है जिनमें से गांव गांबागा और गुशीगू प्रमुख माने जाते है। कहा जाता है ऐसी महिलाओं की संख्या 1500 के आसपास ही होती है। 

और अगर इस गांव में सांप के काटने से किसी की भी मौत हो जाती है तो कई औरतों को चुड़ैल घोषित कर उन को प्रताड़ित किया जाता है। जिसके चलते महिलाएं अपने ही गांव से निकाली जाती है और गुमनामी की जिंदगी जीने को मजबूर हो जाती है।

From around the web