न चाहकर भी वेश्यावृति करने पर मजबूर हैं यहां की महिलाएं

 
न चाहकर भी वेश्यावृति करने पर मजबूर हैं यहां की महिलाएंदुनिया के कई देशों में सोने की खदानें मौजूद हैं. जहां के लोगों को अमीर माना जाता है. लेकिन पेरू में एक ऐसा भी शहर है जहां चारों ओर सोने की खदानें तो हैं बावजूद यहां के लोग दुनिया का अन्य देशों की तुलना में काफी गरीब हैं. यही नहीं ये शहर दुनियाभर में सबसे ऊंचाई पर बसा हुआ है. हजारों खतरों के बावजूद इस शहर में 30,000 लोग रहते हैं.

दरअसल, दक्षिणी अमेरिका में स्थित पेरू का ला रिनकोनाडा शहर कुछ ऐसा ही है. यहां तमाम सोने की खदानें है. शहर के चारों तरफ सोने का खनन होता है लेकिन यहां के लोगों की जिंदगी तंगहाली में गुजरती है. 51,00 मीटर करी 16,732 फुट की ऊंचाई पर बसे इस शहर में 30,000 लोग दुर्गम परिस्थितियों में रहते हैं. इस शहर का औसत तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस रहता है. दिन में जहां काफी ठंड रहती है, वहीं रात में बर्फीली हवाएं चलती हैं.

इस शहर में भारी संख्या में गोल्ड माइन्स हैं, इसके बावजूद इस शहर को गरीब माना जाता है. दरअसल, यहां पर काफी संख्या में गोल्ड माइन्स तो हैं, लेकिन उन्हें अवैध रूप से चलाया जाता है. यहां के मर्द जहां माइन्स में काम करते हैं, वहीं महिलाएं इन खदानों से निकले सोने के टुकड़ों को बेचने के अलावा वेश्यावृत्ति का काम करती है.

ला रिनकोनाडा शहर में हर काम अवैध रूप से होता है यही वहज है कि यहां के ज्यादातर लोग गरीबी में जिंदगी जीने को मजबूर हैं. क्योंकि ज्यादातर कंपनियां यहां काम करने वाले मजदूरों को सैलरी नहीं देती या यों कहें कि एक तरह से उनसे बंधुआ मजदूरों की तरह काम लिया जाता है.

इसकी जगह उनसे 30 दिन मुफ्त में काम करवाया जाता है। इसके बदले 31वें दिन उन्हें अपनी जेबों में मटेरियल भरकर ले जाने की इजाजत होती है। इस मटेरियल में कितना सोना होता है, कितना पत्थर, यह उनकी किस्मत होती है।

यहां पर काफी संख्या में गोल्ड की खादाने हैं, बावजूद इसके शहर का विकास नहीं हो सका है। यहां पर न तो कोई प्रशासन है और न ही कोई कानून। इस कारण से यहां से निकलने वाले गोल्ड को सीधे ब्लैक मार्केट में सस्ते में बेच दिया जाता है। इस कारण से इस शहर का विकास नहीं हो सका है।

इस शहर में जाने के लिए सड़क तक नहीं है और न ही पानी निकासी के लिए यहां सीवर सिस्टम, जिससे यहां काफी गंदगी दिखाई देती है। वहीं, घर भी टिन के चादरों से बने हुए हैं।

बता दें कि यहां पर काफी संख्या में गोल्ड की खदानें हैं, बावजूद इसके शहर का विकास नाम की कोई चीज आपको दिखाई नहीं देगी.

इस शहर में ना तो कोई प्रशासन है और न ही कोई कानून. इस कारण से यहां से निकलने वाले गोल्ड को सीधे ब्लैक मार्केट में सस्ते में बेच दिया जाता है. इस कारण से इस शहर का विकास नहीं हो सका है.

इस शहर की गरीबी की बात करें तो यहां तक जाने के लिए सड़क तक नहीं है और न ही पानी निकासी के लिए यहां सीवर सिस्टम, जिससे यहां काफी गंदगी दिखाई देती है. वहीं, घर भी टिन की चादरों से बने हुए हैं.

From around the web