किसानों की आत्महत्या के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार

 
किसानों की आत्महत्या के लिए मोदी सरकार जिम्मेदारनई दिल्ली। हिन्दूवादी नेता और पूर्व वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने एक बार फिर से मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। तोगड़िया ने शनिवार को कहा कि देश में किसानों की आत्महत्या के लिए केंद्र की मोदी सरकार जिम्मेदार है।

मीडिया  रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार की गलत नीतियों के वजह से किसान खुदकुशी करने को मजबूर हो रहा है। बता दें कि वीएचपी से अलग होकर हाल ही में अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद (एएचपी) नाम से नया संगठन बनाने वाले तोगड़िया ने शनिवार को किसानों के समर्थन में देहगम से गांधीनगर तक 20 किलोमीटर के मार्च में हिस्सा लिया।

इसमें एएचपी की इकाई राष्ट्रीय किसान परिषद की ओर से यह रैली आयोजित की गई थी जिसमें हजारों की संख्या में स्थानीय किसानों ने भाग लिया।

बता दें कि मार्च खत्म होने के बाद गांधीनगर में किसानों से बातचीत करते हुए तोगड़िया ने कहा कि भाजपा ने किसानों के हमेशा एक वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया है। अब समय आ गया है कि भाजपा को यह बंद करना चाहिए। तोगड़िया ने आगे कहा कि सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया और उन्हें प्रताड़ित करने का काम किया है।

सरकार ऐसी नीति बना रही है जिससे किसान कर्ज के बोझ तले दबते जा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि कर्ज के बोझ के कारण किसानों के पास आत्महत्या के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं होता है। इसलिए यदि सरकार किसानों के साथ न्याय नहीं कर सकती या फिर उनके भविष्य के लिए कोई अच्छी योजना नहीं बना सकती तो इस्तीफा दे देना चाहिए।

बता दें कि इससे पहले भी तोगड़िया ने राम मंदिर मामले को लेकर भी भाजपा और संघ पर हमला बोला है। उन्होंने कहा था कि वह जानना चाहते हैं कि मोदी सरकार के चार वर्ष पूरे होने के बावजूद भी अभी तक मंदिर क्यों नहीं बन सका जबकि आपने 2014 के चुनाव में वादा किया था।

From around the web