मोदी ने जय श्री राम के नारे लगवाए, कभी मंदिर निर्माण की बात नहीं की

 
मोदी ने जय श्री राम के नारे लगवाए, कभी मंदिर निर्माण की बात नहीं कीलखनऊ। अयोध्या में राममंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी रैलियों में 'जय श्रीराम' के नारे तो लगवाते हैं, लेकिन कभी राममंदिर निर्माण की बात नहीं करते।

उन्होंने कहा- भाजपा के एजेंडे में मंदिर निर्माण का मुद्दा है, इसलिए  जनता यह चाहती है कि संसद में कानून बनाकर मंदिर का निर्माण कराया जाए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सत्येन्द्र दास ने कहा, भाजपा अगर लोकसभा चुनाव 2019 के पहले मंदिर निर्माण के लिए संसद में कानून बना कर अध्यादेश नहीं लाती, तो पार्टी पूरी तरह से खत्म हो जाएगी। पिछली सरकारों ने अन्य मुद्दों पर तो काम किया, लेकिन जनता का इस मुद्दे पर भाजपा पर विश्वास बना है।

उन्होंने कहा- एससी-एसटी मुद्दे पर सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश को बदलने के लिए तो कानून लाती है। लेकिन जब देश में सभासद से लेकर राष्ट्रपति पद तक भाजपा के लोग हैं, ऐसे में राम मंदिर पर कानून क्यों नहीं बनता।

सत्येन्द्र दास ने कहा- अयोध्या विवाद का मामला सर्वोच्च अदालत में है। कोर्ट अपना फैसला करेगी। देश की जनता उसको मानने के लिए तैयार भी है। विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंघल जिंदा होते तो भाजपा को सत्ता में आते ही राम मंदिर का निर्माण हो जाता।

From around the web