NGO की अनोखी पहल, स्लम्स में निःशुल्क बांट रहे सेनेटरी नैपकिन

 
NGO की अनोखी पहल, स्लम्स में निःशुल्क बांट रहे सेनेटरी नैपकिनजयपुर। एक ओर गांधी सप्ताह के तहत पूरे देशभर में स्वच्छता अभियान चलाकर जनता को स्वच्छ रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ निजी संस्थाएं (NGO) भी इन काम में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही हैं।  राजस्थान में सुनयना कल्चरल एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी सैनेटरी नेपकिन बांटने का काम कर रही है। संस्थान ने 10 लाख सैनेटरी नैपकिन बांटने का टारगेट रखा है।

सबसे बड़ी बात ये संस्था कच्ची बस्ती या गरीब महिलाओं को सैनेट्री नैपकिन वितरित कर रही है, जो इन्हें खरीदने में समर्थ नहीं है। इसके साथ साथ संस्था फ्री नैपकिन बांटने के साथ ही महिलाओं को स्वच्छ रहने के लिए भी प्रेरित कर रही है।

संस्था की तरफ से सबसे पहली शुरुआत जयपुर के भांकरोटा से की गई है। जिसके बाद संस्था राज्य के सभी जिलों में सैनेट्री नैपकिन बांटेगी। जो महिलाएं इसे खरीदने में समर्थ नहीं है और जिन्हें इसकी जानकारी नहीं है।

संस्था से संबंधित सामाजिक कार्यकर्ता रिम्मू खंडेलवाल ने बताया कि जिस प्रकार से स्वच्छता का अभियान पूरे देश में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर और भी तेज हो गया है । उसी क्रम में हमने भी इस नई पहल की शुरूआत की है। इस कड़ी में हम उन स्लम एरिया में जाकर महिलाओं को मुफ्त सैनेट्री नैपकिन बांट रहे है, जो इसे खरीदने में समर्थ नहीं है। 

From around the web