प्रिंसेस बहन ने गलियों में घूम मांगे वोट, BJP से बने MLA बने दिव्यराज, पिता कर रहे थे कांग्रेस का प्रचार

 
प्रिंसेस बहन ने गलियों में घूम मांगे वोट, BJP से बने MLA बने दिव्यराज, पिता कर रहे थे कांग्रेस का प्रचारबसपा के समर्थन के एलान के बाद मध्य प्रदेश में 114 सीटें हासिल करने वाली कांग्रेस राज्य में सरकार बना चुकी है। बीजेपी भले ही कुछ सीट से पीछे रहकर हार गई हो, लेकिन सीट एक ऐसी भी है जहां पिता-बेटे और बेटी ही प्रतिद्वंद्वी थे. बेटी की मदद से बाजी बेटे ने मारी।

रीवा घराने के महाराज पुष्पराज सिंह कांग्रेस से जुड़े हैं. जबकि उनके बेटे दिव्यराज सिंह बीजेपी से जुड़े हैं. और वह सिरमौर विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव में मैदान में थे.

महाराज पुष्पराज सिंह अपने बेटे दिव्यराज सिंह के सामने चुनाव तो नहीं लड़े, लेकिन वह बीजेपी प्रत्याशी बेटे की बजाय कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार कर रहे थे.

दिव्यराज सिंह काफी समय से बीजेपी से जुड़े हैं और वह 2013 में भी सिरमौर विधानसभा से विधायक चुने गए थे. इस बार भी उन्होंने जीत दर्ज करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी अरुण कुमार तिवारी को हराया है. दिव्यराज सिंह ने 49443 वोट हासिल किए, जबकि दूसरे स्थान पर रहे कांग्रेस के अरुण तिवारी को 36042 वोट हासिल हुए.

दिव्यराज सिंह को जिताने के लिए उनकी बहन राजघराने की राजकुमारी मोहिना कुमारी सिंह ने खूब चुनाव प्रचार किया. मुंबई से रीवा पहुंची मोहिना सिंह अपने भाई का साथ देते हुए ने सिरमौर की गांव गलियों में घूमती हुई नजर आईं.

From around the web