नारी के न्याय और सम्मान से जुड़ा है तीन तलाक का मामला : रविशंकर

 
नारी के न्याय और सम्मान से जुड़ा है तीन तलाक का मामला : रविशंकरकेंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक के मुद्दे को नारी के न्याय, गरिमा एवं सम्मान का मामला बताया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार देश की बेटियों और महिलाओं के साथ खड़ी है।
प्रसाद ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तीन तलाक का कानून 22 देशों में समाप्त हो गया है। पड़ोसी मूल्क पाकिस्तान, अफगानिस्तान एवं बांग्लादेश में भी इसे समाप्त कर दिया गया है। तीन तलाक को समाप्त करने से संबंधी विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है लेकिन कांग्रेस इसे राज्यसभा में रोके हुए है। अब कांग्रेस कह रही है यदि केन्द्र में उसकी सरकार बनती है तो वह तीन तलाक को समाप्त कर देगी।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा,  तलाक, तलाक, तलाक और शादी समाप्त। अब ऐसा नहीं चलेगा और जो पति ऐसा करेंगे उनके लिये तीन साल की जेल का प्रावधान है। तीन तलाक का मामला ना पूजा का है, ना पाठ का है, ना इबादत का है। यह न धर्म का है, ना प्रार्थना है। यह नारी के न्याय, गरीमा और नारी सम्मान का मामला है। प्रसाद ने कहा कि तीन तलाक का का मामला केवल तलाक तक सीमित नहीं है। इस मुद्दे पर देश के प्रधानमंत्री के साथ-साथ कानून मंत्री भी देश की बेटियों और महिलाओं के साथ खड़े हैं। 

From around the web