शौहर चाहता था शराब पिये और मॉडर्न ड्रेस पहने बीवी, बात न मानने पर द

 
शौहर चाहता था शराब पिये और मॉडर्न ड्रेस पहने बीवी, बात न मानने पर दिए तीन तलाक़नई दिल्ली। बिहार की राजधानी पटना में एक नूरी फ़ातमा नाम की महिला ने शिकायत दर्ज कर कहा है कि उसके पति ने उसे सिर्फ इसलिए ‘ट्रिपल तलाक' दिया क्योंकि उसने अपने पति के कहे अनुसार खुद को “माडर्न” महिला की तरह बनाने से इन्कार कर दिया था।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई को नूरी फातमा ने बताया कि : “मैंने 2015 में इमरान मुस्तफा से शादी की और हमारी शादी के कुछ दिन बाद हम दिल्ली चले गए। कुछ महीने बाद, उन्होंने मुझसे कहा कि मैं शहर की दूसरी माडर्न महिलाओं की तरह छोटे कपड़े पहनूं पार्टियों में जाऊं और शराब का सेवन करूं। जब मैंने उनके कहे से इन्कार किया तो वह मुझे हर दिन मारता था।” उन्होंने कहा, “कई सालों तक यातनाएं देने के बाद, कुछ दिनों पहले उन्होंने मुझे अपना घर छोड़ने के लिए कहा और जब मैंने मना कर दिया, तो उन्होंने मुझे ट्रिपल तलाक दे दिया।”

पीड़िता ने इस संबंध में राज्य महिला आयोग से भी संपर्क किया, जिसने अपने पति को नोटिस भेजा है। बिहार राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने कहा “पति उसे प्रताड़ित करता था और दो बार उसने जबरदस्ती उसके बच्चे का गर्भपात करवाया। हमने इस मामले का संज्ञान लिया है। 1 सितंबर को, उसके पति ने उसे ट्रिपल तलाक दिया था। हमने मामले में उसके पति को नोटिस जारी किया है और बुलावा आएगा“।


मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकारों का संरक्षण), विधेयक, 2019, जो मुस्लिमों में तत्काल ‘ट्रिपल तालक’ को अपराधी बनाता है। ये बिल 1 अगस्त को दोनों सदनों में पास होकर कानून बना था। इस कानून के अंतरगत अपराधी को तीन साल की सजा का प्रावधान रखा गया है। लेकिन अभी भी कुछ पुरुषवादी मानसिकता के लोग हैं जो इस कानून को न के बराबर समझ रहे हैं। इन घटनाओं को देखकर लगता है कि अगर इन पर कार्रवाई होनी शुरू नहीं हुई तो ऐसे ही मामले सामने आते रहेंगे।

From around the web