वोट डालने पर तालिबान ने काटी थी दाएं हाथ की उंगुली, सफी ने फिर भी दिया दोबारा वोट

 
वोट डालने पर तालिबान ने काटी थी दाएं हाथ की उंगुली, सफी ने फिर भी दिया दोबारा वोटअफगानिस्तान में तालिबान ने 2014 में मतदान करने पर सफीउल्लाह सफी के दाएं हाथ की अंगुली काट दी थी। उसने शनिवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान किया और बाएं हाथ की उंगली में वोटिंग इंक लगवा कर चुनाव में हिस्सा लिया।

सफी ने कहा- मुझे पता है कि यह एक दर्दनाक अनुभव था, लेकिन यह केवल एक अंगुली थी। जब मेरे बच्चों और देश के भविष्य की बात आती है तो मैं अपना पूरा हाथ कटाकर भी नहीं बैठूंगा।


सफी ने कहा- 2014 में मैंने वोट डाला था। इसके एक दिन बाद राजधानी काबुल से यात्रा की। मेरी अंगुली पर वोटिंग की स्याही लगी थी। इस बीच तालिबान ने मुझे कार से निकाला और सड़क से दूर ले गए, जहां उन्होंने अपनी अदालत लगाई।

उन्होंने यह कहते हुए मेरी अंगुली काट दी कि मैंने उनकी चेतावनी के बावजूद चुनाव में हिस्सा लिया। इस बार परिवार के मना करने के बाद भी मैं मतदान में शामिल हुआ।

From around the web