यह है कोर्ट में लटका देश का सबसे पुराना केस, सभी पेंडिंग केसों को खत्म होने में लग सकते हैं 324 साल

 
यह है कोर्ट में लटका देश का सबसे पुराना केस, सभी पेंडिंग केसों को खत्म होने में लग सकते हैं 324 साल नई दिल्ली।  यह जानकर आपको हैरानी होगी कि देश का सबसे पुराना पेंडिंग केस असल में उस कोर्ट से भी पुराना है। नैशनल जूडिशल डेटा ग्रिड के मुताबिक कलकत्ता हाई कोर्ट का केस नंबर AST/1/1800 संभवत: देश का सबसे पुराना पेंडिंग केस है, जो साल 1800 में रजिस्टर्ड किया गया था। इस केस में आखिरी सुनवाई 20 नवंबर 2018 को हुई थी। 

ख़बरों के अनुसार कलकत्ता हाई कोर्ट देश में बनाई गई पहली हाई कोर्ट थी, जिसकी स्थापना 1862 में हुई थी। उस दौरान इसे फोर्ट विलियम स्थित न्यायपालिका की हाई कोर्ट के नाम जाना जाता था। सर बैरन्स पिकॉक इसके पहले चीफ जस्टिस थे। वर्तमान दौर में कलकत्ता हाई कोर्ट को सबसे ज्यादा पेंडिंग केसों वाली अदालत माना जाता है। इसमें फिलहाल 2.44 लाख केस पेंडिंग हैं। इनमें 9,979 केस ऐसे हैं, जो 30 साल से ज्यादा समय से पेंडिंग हैं।

देश की 24 हाई कोर्ट में करीब 49 लाख केस पेंडिंग हैं। इन केसों में से करीब 10 लाख से ज्यादा केस ऐसे हैं, जो 10-30 साल से पेंडिंग हैं। देश की सबसे बड़ी हाई कोर्ट इलाहाबाद हाई कोर्ट में 38 हजार केस 30 साल से ज्यादा पुराने हैं।

एनजेडीजी के आंकड़ों के मुताबिक, देश भर की करीब 17000 जिला और अधिनस्थ अदालतों में 78,727 केस पेंडिंग हैं, जो 30 साल से पुराने हैं। जबकि कुल पेंडिंग केसों की संख्या 2.94 करोड़ है। सरकार की तरफ से किए गए एक सर्वे की मानें तो यदि इसी गति से केसों का निपटारा होता है तो इन सभी केसों को खत्म होने में 324 साल लग सकते हैं। निचली अदालतों में 140 केस ऐसे भी हैं, जो 60 साल से ज्यादा पुराने हैं। 

From around the web