किशोरी के अपहरण में महिला गिरफ्तार

 
किशोरी के अपहरण में महिला गिरफ्ताररुडकी। नौ माह पूर्व लक्सर के गांव से किशोरी का अपहरण कर महीनों तक उससे वेश्यावृत्ति कराने की आखिरी आरोपी महिला भी बीती रात पुलिस के हत्थे चढ़ गई। पुलिस ने महिला को हरिद्वार पॉक्सो कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है। मामले में एक युवक और एक महिला को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

इसी साल जनवरी में लक्सर कोतवाली के एक गांव की किशोरी घर से संदिग्ध हालत में लापता हो गई थी। परिजन कई दिन तक अपने स्तर पर उसकी तलाश में जुटे रहे, लेकिन किशोरी का कहीं कोई सुराग नहीं लग पाया। इसके बाद उन्होंने कोतवाली पहुंचकर पुलिस को तहरीर दी थी। तहरीर में उन्होंने गांव के ही कुछ लोगों पर किशोरी का अपहरण करने का संदेह भी जताया था। पुलिस मुकदमा दर्ज कर छानबीन कर रही थी। करीब दो महीने बाद किशोरी डौसनी रेलवे क्रासिंग के पास लावारिस हालत में घूमती मिली थी।

पुलिस ने उसे बरामद कर पूछताछ की तो पता चला था कि पूनम पत्नी अंकित निवासी ग्राम इकबरा थाना हस्तिनापुर मेरठ (उत्तर प्रदेश) किशोरी को बहला फुसलाकर रोशनाबाद में रह रही महिला सुदेश और युवक बिजेंद्र के पास ले गई थी। वहां पर तीनों द्वारा किशोरी को प्रताडि़त करके उससे जबरन वेश्यावृत्ति कराई जा रही थी। बाद में पुलिस ने महिला सुदेश और उसके साथी बिजेंद्र को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था, जबकि तीसरी आरोपी पूनम फरार चल रही थी।

बीती रात मुखबिर ने पूनम के लक्सर में होने की जानकारी पुलिस को दी थी। इस पर विवेचक एसआई ममता ने दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि आरोपी पूनम को हरिद्वार के पॉक्सो कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

From around the web