चौथी बेटी होने पर पति के डर से महिला ने नवजात को बेचा

 
चौथी बेटी होने पर पति के डर से महिला ने नवजात को बेचाछत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के आंबेडकर अस्पताल में महिला की डिलवरी के बाद शिशु को बेचने का मामला प्रकाश में आया है। शिशु की खरीद-फरोख्त में शामिल पुलिस ने बच्चे की मां सहित 5 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ बच्चा खरीद फरोख्त का मामला दर्ज किया है।
मिली जानकारी के अनुसार बलौदाबाजार निवासी महिला ईश्वरी चेलक ने अंबेड़कर अस्पताल में 7 मार्च को एक बच्ची को जन्म दिया था। जन्म के बाद से ही महिला बच्ची को अनाथालय में देने की बात कह रही थी। जिसके बाद टाटीबंद निवासी ममता गोस्वामी ने महिला की मुलाकात अन्य महिला रुपा सिंह से कराई उसके बाद रुपा सिंह के कहने पर ईश्वरी चेलक ने अपने बच्चे को सरायपाली निवासी भूपेश माखिजा को दे दिया। पति की  डर से चौथी बेटी होने पर बच्चे देने की बात ईश्वरी चेलक ने ममता गोस्वामी को बताया कि उसका पति बेटा नही होने की बात कहकर मारपीट करता है। इसलिये वह अपनी नवजात बेटी को दूसरे को सौंप दिया। जिसके बाद ममता गोस्वामी ने ईश्वरी चेलक को लेकर महिला थाना लेकर गई जहां महिला पुलिस ने केश सखी सेंटर को सौंप दिया जिसके बाद सखी सेंटर के अधिकारियों ने घटना को गंभीरता से लेते हुये बच्चे की मां से पूछताछ किया तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने बच्चे के खरीद फरोख्त में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

From around the web