मजदूर ने बाग में लगाई फांसी, पूरे परिवार को रोता बिलखता छोड़ा

 
मजदूर ने बाग में लगाई फांसी, पूरे परिवार को रोता बिलखता छोड़ा
जसपुर। घरेलू कलह ने एक मजदूर की जान ले ली। मजदूर ने पास के ही बाग में जाकर फांसी लगा ली। परिजन उसे उतारकर सरकारी अस्पताल लाये। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।  हेतराम की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

ग्राम गृलरगोजी निवासी हेतराम सिंह (४०) पुत्र नत्थू सिंह पूर्व प्रधान नईम अहमद के राइस मिल में मजदूरी का काम करता था। बताते है कि हेतराम का अपनी पत्नी से आये दिन किसी न किसी बात पर झगड़ा होता रहता था। पिछले कई दिनों से दोनों में कहासुनी हो रहीा थी। इससे हेतराम परेशान था।

मंगलवार रात को दोनों में झगड़ा होने पर वह घर से कही चला गया। देर रात को जब ग्रामीणों ने उसकी तलाया की तो वह घर के पीछे बाग में आम के पेड़ से लटका मिला। ग्रामीण उसे उतारकर सरकारी अस्पताल लाये। जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बुधवार दोपहर को उसका दाह संस्कार कर दिया गया।

From around the web