छह मिनट में सब याद दिला देगा यह जादुई गैजेट

 
00

बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त कम होना एक आम समस्या है। अपनी याददाश्त को बनाए रखना बुजुर्गों के लिए एक मुश्किल काम है। लेकिन ऐसा लगता है कि विज्ञान ने इस समस्या का समाधान भी खोज लिया है। 

वैज्ञानिकों ने ऐसा हेलमेट (गैजेट) बनाया है जो भूलने की बीमारी से निजात दिलाएगा। दूसरे शब्दों में, ब्रेन जैपिंग हेलमेट डिमेंशिया में एक मारक के रूप में कारगर साबित हो सकता है। यह कारनामा ब्रिटेन की डरहम यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने किया है। जानकारी के मुताबिक इस प्रोजेक्ट से जुड़े डॉ. गोडाल डूगल का कहना है कि इस खास हेलमेट को पहनने के बाद याददाश्त पर नियंत्रण रखना जरूरी है. मस्तिष्क की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को फिर से ठीक किया जा सकता है। यानी हेलमेट के इस्तेमाल से दिमाग की कोशिकाओं की काम करने की क्षमता में सुधार होगा, जिससे याददाश्त में सुधार होगा। 

वैज्ञानिकों का दावा है कि इस हेलमेट को सिर्फ 6 मिनट तक पहनना होगा, जिसके बाद व्यक्ति को खुद फर्क महसूस होने लगेगा। डॉ. गोडल डूगल का कहना है कि हेलमेट से निकलने वाली इंफ्रारेड किरणें दिमाग के अंदरूनी हिस्सों तक पहुंचकर अपना असर छोड़ देंगी। इससे मस्तिष्क की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत होने लगेगी। इस प्रक्रिया से गुजरने के बाद याददाश्त में सुधार होने लगेगा। यह भी कहा जा रहा है कि हेलमेट के जरिए ब्लड सर्कुलेशन में सुधार संभव है। याददाश्त बढ़ाने वाले इस हेलमेट को लेकर 13 लोगों पर शोध किया गया है। यह पाया गया कि हेलमेट का दिमाग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। मस्तिष्क की कार्य क्षमता में सुधार हुआ और याददाश्त भी बढ़ती देखी गई। विशेषज्ञों के अनुसार डिमेंशिया तभी होता है जब मस्तिष्क की कोशिकाएं तेजी से मरने लगती हैं। करीब 7.5 लाख रुपये का यह हेलमेट इस बीमारी के इलाज में गेम चेंजर बताया जा रहा है। हालांकि, बाजार तक पहुंचने में अभी समय लगेगा।

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web