देर रात हुई अचानक बारिश से किसानों की बढ़ाई चिंता , वैवाहिक कार्यक्रमों में भी खलल

 

देर रात हुई अचानक बारिश से किसानों की बढ़ाई चिंता , वैवाहिक कार्यक्रमों में भी खललरायपुर, 22 नवम्बर (आरएनएस)। रविवार रात हुई बारिश होने के कारण किसानों की चिंताएं बढ़ गई वहीं शादी समारोह में भी इसका प्रभाव देखने को मिला।
बारिश से जहां अनेक वैवाहिक कार्यक्रम प्रभावित हुए वहीं अनेक निचली बस्तियों में पानी भरने से लोगों को परेशानी हुई। शहर के कई इलाकों में देर रात तक बिजली गुल होने से लोगों को परेशानी हुई। वहीं सुबह तक पानी गिरने से शहर की सुबह की सैर भी प्रभावित हुई। राजधानी रायपुर में हुई बारिश के कारण, शादी समारोह में खलल, कई पंडाल भींगे, विवाह समारोह बाधित, साथ ही आसपास के इलॉको किसानों की मुश्किलें बढ़ी, बारिश में धान भींगे।
अब बढ़ेगी ठंड
मौसम में एक बार फिर से बदलाव होने को है और मंगलवार 23 नवंबर से प्रदेश के अधिकतम व न्यूनतम तापमान में गिरावट का काम शुरू होगा। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे ठंड में बढ़ोतरी होगी। छत्तीसगढ़ में एक बार फि र मौसम में जबरदस्त बदलाव हुआ है।
इन इलाकों में बरसे बदरा:
लगातार दो तीन दिनों से आसमान में छाए बादलों के बाद राजधानी समेत रायपुर, बिलासपुर महासमुन्द, दुर्ग, धमतरी, बस्तर, कांकेर में झमाझम बारिश हो रही है, जिसके चलते तापमान में गिरावट हुई है। वहीं बारिश के थमने के बाद अब ठंड बढऩे की संभावना बढ़ गई है।आगामी 3 से 4 दिनों के बाद बादल साफ होने के कारण ठंड बढऩे की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक 3-4 दिन बाद प्रदेश में बादल साफ हो जाएंगे, जिसके कारण तापमान में 3 से 4 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की जा सकती है। फिलहाल रायपुर प्रदेश का सबसे गर्म जिला बना हुआ है। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार प्रदेश में चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और आसपास समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक विस्तारित है। जिसके चलते प्रदेश में बारिश हो रही है। बता दें कि देर रात से हो रही बारिश से राजधानी में कई जगह जल भराव की स्थिति है। इसके अलावा झमाझम बारिश से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। ज्ञातव्य हो कि प्रदेश में इन दिनों धान कटाई का काम चल रहा है, इस बीच बारिश से किसानों को नुकसान हुआ है।

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web