दरोगा भर्ती में गिरफ्तार चार आरोपितों से महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद

डंके की चोट पर 'सिर्फ सच'

  1. Home
  2. Crime

दरोगा भर्ती में गिरफ्तार चार आरोपितों से महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद


दरोगा भर्ती में गिरफ्तार चार आरोपितों से महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद


मेरठ, 14 मई (हि.स.)। उप्र पुलिस की दरोगा भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा में गलत ढंग से शामिल हुए चार आरोपितों को मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस को महत्वपूर्ण शैक्षिक दस्तावेज बरामद हुए हैं। पुलिस इन लोगों से पूछताछ करके गिरोह के अन्य सदस्यों तक पहुंचने के प्रयास कर रही है।

उप्र पुलिस की उप निरीक्षक (नागरिक पुलिस) एवं समकक्ष पदों पर सीधी भर्ती परीक्षा के लिए ऑनलाइन परीक्षा 12 नवम्बर से 02 दिसम्बर 2021 तक आगरा में हुई थी। इस परीक्षा में गलत ढंग से शामिल होने वाले 04 आरोपितों को शुक्रवार को पुलिस ने मेरठ पुलिस लाइन से गिरफ्तार किया था। आरोपित अपने शैक्षिक दस्तावेजों का सत्यापन कराने के लिए आए थे।

शनिवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभागर चौधरी ने बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक व अनुसचिव उप्र पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड हफीजुर रहमान की तहरीर पर विकास जादौन निवासी टटारपुर जिला हाथरस, सुरेश निवासी नंगला मंधार जिला हाथरस, दीपक कुमार निवासी बिसावर जिला हाथरस और योगेश कुमार निवासी बिचपुरी जिला हाथरस के खिलाफ ऑनलाइन परीक्षा में अनुचित साधन प्रयोग करने पर सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। इसके साथ ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराने वाले परीक्षा केंद्र एसडब्ल्यू इन्फोटेक आगरा के प्रबंधक भारतेन्दु लवानिया और कृष्णा इन्फोटेक आगरा के प्रबंधक महेश चंद्रा के खिलाफ अपने-अपने परीक्षा केंद्रों पर अनुचित साधनों का प्रयोग करने में सक्रिय मदद करने मुकदमा दर्ज किया गया। इस मामले की जांच में एसएसपी ने एसपी सिटी विनीत भटनागर और सीओ सिविल लाइन के निर्देशन में सिविल लाइन पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इन आरोपितों के पास से पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा जारी रोल नंबर, हाईस्कूल, इंटर, ग्रेजुएशन की अंक तालिका, डुप्लीकेट एनरोलमेंट नंबर, सामान्य निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, मोबाइल, आधार कार्ड आदि महत्वपूर्ण शैक्षिक प्रमाण पत्र बरामद हुए। इन आरोपितों को पकड़ने वाली टीम में उप निरीक्षक दिनेश प्रकाश शर्मा, शुभम सैंगर, पवन सैनी, राजीव कुमार शामिल रहे। इस मामले में दो अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगी हुई है।

कंप्यूटर हैक करके किया गया खेल

ऑनलाइन परीक्षा में कंप्यूटर को हैक करके आरोपितों ने खेल किया। पुलिस का कहना है कि 02 घंटे की परीक्षा में अभ्यर्थियों को 160 प्रश्न हल करने थे। परीक्षा केंद्रों के बाहर बैठे जालसाजों से आरोपितों ने कंप्यूटर हैक कराए और नौ मिनट में ही 150 प्रश्न हल कर दिए। लखनऊ में यह मामला पकड़ में आने के बाद कार्रवाई हुई।

हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप