मनीष तिवारी की किताब से कांग्रेस में हंगामा

 
मनीष तिवारी की किताब से कांग्रेस में हंगामा

नई दिल्ली-DVNA। देश में इन दिनों किताब को लेकर आए दिन राजनीति गरम हो रही है। कांग्रेस पार्टी सलमान खुर्शीद की किताब से जो सियासी हंगामा अभिशांत भी नहीं हुआ उसके बाद कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की किताब ने कांग्रेस की नींद हराम कर दी है। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर भी जमकर सियासी हुई थी, हालांकि उनकी किताब पर भाजपा ने हमला किया था, लेकिन कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अपनी ही सरकार की आलोचना कर इसके लिए मुश्किलें खड़ा कर दी है।
मनीष तिवारी की किताब 10 फ्लैशपॉइंट 20 ईयर 1 दिसंबर को रिलीज होना है । कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की किताब में नेशनल सिक्योरिटी द इंपैक्ट इंडिया को लेकर में हंगामा मचा हुआ है। नेशनल सिक्योरिटी के मामले को लेकर ही इस किताब में कांग्रेस नेता ने अपने ही सरकार पर हमला किया है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने 26/ 11 मुंबई हमले को लेकर कांग्रेस सरकार की तीखी आलोचना की है । कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अपनी इस किताब में 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर कोई ठोस कार्यवाही न करने को लेकर उस समय कि यूपीए सरकार की कमजोरी करार दिया है। मनीष तिवारी ने अपनी इस किताब में लिखा है कि जब किसी देश को मासूम लोगों के कत्लेआम का पछतावा नहीं यह तो संयम ताकत की पहचान नहीं बल्कि कमजोरी की निशानी है। किताब में आगे लिखा है कि एक समय ऐसा आता है जब शब्दों से ज्यादा कार्यवाही दिखनी चाहिए 26/11 एक ऐसा ही मौका था जब ऐसा करना चाहिए था। मनीष तिवारी ने किताब में आगे लिखा कि मेरे विचार में भारत को उस समय 9/11 की तरह ही जवाबी कार्यवाही करनी चाहिए थी। मनीष तिवारी की यह किताब भारत में पिछले 20 सालों के दौरान प्रमुख राष्ट्रीय चुनौतियों के संदर्भ में यह किताब 1 दिसंबर को लांच होने जा रही है। लेकिन इससे पहले ही किताब को लेकर हंगामा शुरू हो गया है।

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web