हज यात्रा में खाने का सामान साथ ले जाने पर पाबंदी

 

बरेली। बरेली हज सेवा समिति के संस्थापक पम्मी खान वारसी ने बताया कि हज कमेटी आफ इंडिया की जारी गाइडलाइन 2021 की हज यात्रा के नियमो को बताया गया है। आजमीन ए हज को उसी के मुताबिक हज आवेदन करना हैं।
उन्होंने बताया कि प्रतिबंधित वस्तुओं के बारे में गाइडलाइन में साफ़ निर्देश दिए गए हैं। खशखश , वायग्रा गोली, जिन्सी तेल या क्रीम, मसनुई काफूर, सिस्टोन, खमीरा, गुटखा, खैनी, गुल, पिपरमेन्ट या इस तरह की कोई भी नशीला पदार्थ किसी भी शकल में ले जाने की सख्त मनाही है । ऐसे सामान ले जाने वाले आजमीन का सफर – ए – हज रदद् कर दिया जाऐगा।
पाबंदी वाले सामान साथ होने पर सख़्त जुर्माना होगा और सऊदी अरब उसको वापस भेज देगी।सामान के साथ आग उन चीज़ों को साथ नहीं ले जा सकते जिनसे आग लगने का खतरा हो जैसे मिट्टी का तेल, पेट्रोल और स्टोव आदि,अगर किसी आजमीन ए हज के पास पाबंदी वाली चीज़ मिलती है या साथ पाया गया तो उसे सऊदी कानून के तहत सजा दी जाएगी ।
सऊदी अरब में किसी भी किस्म का सियासी लिट्रेचर,तस्वीरे या इस तरह के कोई भी सामान लाने पर मुकम्मल पाबन्दी है । सऊदी हुकूमत ने सख्ती से आगाह किया है कि इन हिदायात की खिलाफवर्जी करने वाले व्यक्ति को सख्ततरीन सजा दी जाएगी ।खाने का सामान पका या कच्चा दोनों पर पाबंदी आयद कर दी है लिहाजा आज़मीन – ए – हज को तेल , घी , आचार , चटनी , मछली , मिठाईयां , सब्जी, फल या इन जैसी दूसरी पाबन्द वस्तुएं अपने सामान के साथ या किसी दूसरे तरीके से सऊदी अरबिया ले जाने की इजाज़त ना होगी। सऊदी अरब के जिद्दा एयरपोर्ट/ मदीना या इंडिया एयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारी ऐसी वस्तुओं को जब्त कर लेंगे और आज़मीन – ए – हज को तकालीफ का सामना करना पड़ेगा।

From around the web