"जैविक मैन" कब होंगे "पद्म पुरस्कार" से सम्मानित?, सोशल मीडिया पर उठ रही मांग

 
rk sinha

नई दिल्ली। हम आपको आज एक ऐसे व्यक्ति से रूबरू कराएंगे जो बचपन मे यूँ तो माता-पिता के अनुसाशन से बाहर निकलकर आज़ादी महसूस करने के लिए दादा के पास गांव जाकर खेती किसानी में उनका हाथ बंटाया करते थे लेकिन लोग आज उन्हें जैविक मैन के नाम से जानते हैं। जो जैविक खेती के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करते हुऐ लोगो के लिए न सिर्फ़ प्रेरणा बने हुए हैं बल्कि लोगों को जागरूक करते हुऐ उन्हें जैविक खेती अपनाने के लिए समय- समय पर जानकारी साझा करते हुऐ उनका मार्गदर्शन भी कर रहे हैं। 

अब सोशल मीडिया पर "जैविक मैन" को "पद्म पुरस्कार" से सम्मानित करने की मांग उठ रही है। सोशल मीडिया पर अलग - अलग लोगों की राय आ रही है। 

rk sinha

हम बात कर रहे हैं भाजपा के संस्थापक सदस्य व पूर्व सांसद राज्यसभा आर. के सिन्हा की जिनका मानना है कि आज के दौर में मनुष्य अपने खाने-पीने की सामग्री को लेकर बेहद चिंतित नज़र आता है क्योंकि एक तो मिलावट और ऊपर से हमारी भोजन सामग्री की तैयारी में पेस्टिसाइड का प्रयोग हमे अंदर ही अंदर खोखला कर रहा है। जिससे मनुष्य के शरीर मे घातक बीमारियां जन्म ले रही है और जीवन बर्बादी की और जा रहा है। वर्तमान में चाहे सब्ज़ी हो या धान, गेहूँ ,तिलहन हर चीज़ की उपज में यूरिया समेत तमाम हानिकारक दवाओं का उपयोग किया जाता है जो मनुष्य के शरीर के लिए बेहद हानिकारक है।जिनसे छुटकारा पानी स्वस्थ जीवन के लिए बेहद ज़रूरी है।

RK सिन्हा के फार्म से निकली 5 Kg की मूली

आपको बताते चले कि आरके सिन्हा के तत्वधान में  जैविक खेती के लिये सेमिनार कर एवं खुद आरके सिन्हा वीडियो बनाकर भी लोगो को जैविक खेती के महत्व समझा रहे, अभी हल ही में फिर एक बार लोगो को जागरूक करने के लिये 7 दिवसीय कृषि कार्यक्रम का आयोजन आरके सिन्हा के द्वारा कराया गया है, जिसमें देश के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर  शामिल हुये, उसके अलावा देश के कोने कोने से आये किसानो  जब आरके सिन्हा ने दिखाया की मल्टिलेयर फर्मींग से कैसे खेती कर लाभ कमाया जा सकता है तो सभी किसानो ने कहा देशहित में आपके द्वारा चलाया  जा रहा यह अभियान को हम सलाम करते है और आरके सिन्हा के प्रयासो की खुब प्रशंसा किये,  जिसके अंतर्गत मल्टिलेयर फर्मींग से खेती कर कैसे लाभ अर्जित करे एवं जैविक खेती  स्वास्थय के लिये लाभदायक क्यू जरुरी है आदी विषयो पर चर्चा कर जागरूकता फैलाया जा रहा है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web