हाथ धोते समय हर कोई करता है ये 5 गलतियां, हो सकती है ये गंभीर परेशानी

 
हाथ धोने की आदत बचपन से ही सिखाई जाती है. टॉयलेट जाने के बाद, खाने से पहले, खाने के बाद या कोई गंदी चीज छूने व उठाने के बाद हाथों को धोना जरूरी बताया जाता है. इसका कारण यह है कि हमारे हाथ कीटाणुओं और गंदे बैक्टीरिया के सबसे आम वाहक होते हैं. शरीर में ज्यादातर हानिकारक जर्म्स हाथों से ही पहुंचते हैं. इसलिए हाथ धोना ज्यादातर लोगों की आदत में शामिल हो जाता है. लेकिन क्या आप सही तरीके से हाथ धोते हैं? कहीं आपके हाथ धोने का तरीका गलत तो नहीं? अगर ऐसा है तो आपको हाथ धोने का पूरा फायदा ही नहीं मिलेगा यानी हाथ धोने के बाद भी जर्म्स आपके शरीर में पहुंच ही जाएंगे.

डॉक्टरों का मानना है कि ज्यादातर लोग हाथ धोते समय कुछ सामान्य गलतियां करते हैं, जिसके कारण उनका हाथ सही तरह से कभी भी साफ नहीं हो पाता है. मगर इसके बारे में लोगों को सही जानकारी नहीं होती है. डॉक्टर्स ये बताते हैं कि अगर आप सही तरह से हाथ धोएं, तो हजारों तरह के रोगों और इंफेक्शन से आप खुद को बचा सकते हैं. आइए आपको बताते हैं हाथ धोने के दौरान की जाने वाली 5 सामान्य गलतियों के बारे में जिनकी तरफ आपका ध्यान शायद नहीं जाता है.

जल्दबाजी करना
मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च बताती है कि ज्यादातर लोग हाथ धोते समय जल्दबाजी में रहते हैं जिसके कारण उनके हाथों के कीटाणु पूरी तरह से मरते नहीं हैं. सेंटर ऑफ डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार आपको अपने हाथों पर साबुन या हैंडवॉश लगाने के बाद कम से कम 20 सेंकड तक झाग से हाथों को रगडऩा चाहिए. तभी आपके हाथों के कीटाणु अच्छी तरह से साफ होंगे.

पूरा हाथ न धोना
बहुत सारे लोग यह गलती भी करते हैं कि वह सिर्फ हथेली के हिस्से में ही साबुन या हैंडवॉश लगाते हैं और हाथ धो लेते हैं. ऐसे में आपके हाथ के कई हिस्से छूट जाते हैं. इसलिए जरूरी है कि जब आप हाथों को धोएं तो हथेली के साथ-साथ पीछे के हिस्से, उंगलियों में साबुन लगाते हुए कलाइयों तक लगाएं. इसके बाद पानी की धार में पूरे हाथ को रगड़ते हुए सफाई से हाथ धोएं ताकि आपका पूरा हाथ साफ हो जाए.

गंदे कपड़े में हाथ पोंछ लेना
गंदे कपड़े में हाथ पोंछ लेना सबसे सामान्य गलती है. ज्यादातर लोग हाथ तो बड़े शौक से धोते हैं, मगर इसके बाद हाथों का पानी पोंछने के लिए ऐसे कपड़े या टॉवेल का इस्तेमाल करते हैं, जो पहले से ही गंदा होता है या 7-8 दिन से ज्यादा समय से धोया नहीं गया होता है. ऐसे में हाथ धोने के बाद कपड़े में लगे हुए जर्म्स दोबारा आपके हाथों में लग जाते हैं और आपको हाथ धोने का कोई फायदा नहीं मिलता है. इसलिए जिस कपड़े में आप हाथों को धोने के बाद पोंछते हैं, उसे रोजाना या कम से कम 1 दिन छोड़कर जरूर धोएं और धूप में सुखाएं. इसके अलावा अपना पर्सनल हैंड टॉवल रखें. कई लोग एक ही कपड़े को हाथ सुखाने के लिए इस्तेमाल न करें.

हाथों को ठीक से न सुखाना
जर्म्स और बैक्टीरिया गीलापन या नमी पाकर तेजी से बढ़ते हैं. यही कारण है कि बरसात के दिनों में इनका अटैक बढ़ जाता है. इसलिए अगर आप हाथों को धोने के बाद इसे सही तरह से साफ नहीं करते हैं, तो आपके हाथों में रह गए कीटाणु तेजी से बढ़ते हैं और दोबारा आपके हाथ गंदे हो जाते हैं, जबकि आपको यही लगता है कि आपके हाथ साफ हैं. इसलिए आप जब भी हाथ धोएं, इसे पूरी तरह और सही तरीके से सुखाएं. हाथों को सुखाने के लिए आप कोई साफ कपड़ा, हैंड टॉवल, हैंड ड्रायर या टिशू पेपर का इस्तेमाल कर सकते हैं.

पब्लिक प्लेस पर की जाने वाली गलतियां
एक बड़ी गलती आप तब करते हैं जब आप पब्लिक प्लेस पर टॉयलेट या वॉशरूम का इस्तेमाल करते हैं. दरअसल पब्लिक प्लेस पर बने वॉशरूम को दिन में सैकड़ों लोग इस्तेमाल करते हैं, इसलिए यहां जर्म्स और बैक्टीरिया सामान्य वॉशरूम के मुकाबले कई गुना ज्यादा होते हैं. इसलिए पब्लिक प्लेस पर हाथों को धोने के बाद जब आप सादे हाथों से कमरे के अंदर की कोई चीज छूते हैं, तो आपके हाथों में फिर ढेर सारे जर्म्स लग जाते हैं. जैसे- नल चलाने के लिए प्रेस करने वाली बटन, गेट खोलने का हैंडल, हैंड वॉश डिस्पेंसर या कोई अन्य जगह. इसलिए जरूरी है कि आप इस दौरान भी पूरी सावधानी रखें.

From around the web